रविवार, 23 फ़रवरी 2020

रापी लगाकर लूटने वाली गैंग का मुख्य अंतरराज्यीय सरगना गिरफतार, पुलिस ने 35,000 का रखा था ईनाम


रापी लगाकर लूटने वाली गैंग का मुख्य अंतरराज्यीय सरगना गिरफतार, पुलिस ने 35,000 का रखा था ईनाम


झाबुआ (अली असगर बोहरा) - जिले के नेशनल हाईवे ओर मुख्य मार्गो पर रापी लगाकर वाहनों ओर राहगीरों को लूटने वाली गैंग का मुख्य सरगना नाहरसिंह पिता कलसिंह वाखला 40 निवासी माछलिया को पुलिस ने गिरफतार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी से लूट का सामान भी जप्त किया है। आरोपी पिछले 13 वर्शो से फरार था। जिस पर लूट, डकैती कर आतंक फैलाने जैसे 14 से अधिक अपराधो मे शामिल होना बताया गया है। आरोपी पर पुलिस ने 35,000 हजार का ईनाम घोषित किया था। नाहरसिंह की गिरफतारी को पुलिस बडी सफलता मान रही है। 


पुलिस अधीक्षक विनीत जैन ने आज कंट्रोल रूम पर पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि मुखबीर की सूचना पर कुख्यात आरोपी नाहरसिंह को 19 फरवरी को अनास नदी पुलिया के नीचे (रंगपुरा रोड) पर थाना कोतवाली, क्राईम ब्रांच एवं सायबर सेल की टीम द्वारा घेरा बंदी कर पकडा गया। आरोपी को दिनांक 19 फरवरी को ही न्यायालय मे पेश किया गया। जिसे पी. आर. पर लेकर आरोपी से पूछताछ की जा रही है। 


रापी लगाकर लूटने वाली गैंग का मुख्य अंतरराज्यीय सरगना गिरफतार, पुलिस ने 35,000 का रखा था ईनाम


ऐसे करते थे वारदात- 


आरोपी नाहरसिंह ने पूछताछ मे पुलिस को बताया कि गिरोह के सदस्यों के साथ मुख्यमार्गो पर रात मे आने जाने वाले चार पहिया वाहनों को पत्थरों की रापी लगाकर टायर को पंचर कर देते थे। जब वाहन चालक टायरों को बदलने के लिए गाडी रोकता था तो झाडीयों मे छिपे गिरोह के अन्य सदस्य पत्थर ओर लाठी से अचानक हमला कर वाहन मे बैठे यात्रियों को भयभीत कर उनसे लूटपाट करते थे। ओर अंधेरे का फायदा उठाकर घटना स्थल से दूर जंगलों मे भागकर छुप जाते थे। एक बार मे दो-तीन वाहनों को निशाना बनाते थे। 


चार राज्यो में कई वारदातों को दिया अंजाम। 


आरोपी के आपराधिक रिकार्ड के अनुसार झाबुआ जिले मे 6,  धार जिले मे 3, सिहोर मे 1 ओर राजस्थान मे 4 स्थानों पर विभिन्न धाराओं मे कई अपराध पंजीबद्व है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आरोपी से मध्यप्रदेश के अलावा राजस्थान, गुजरात ओर महाराश्ट मे भी अपराध करने की जानकारी मिली है। ओर 29 से अधिक लूट की घटनाओं को अंजाम दे चुका है।  आरोपी नाहरसिंह की गैग मे 24 सदस्य है जिनकी गिरफतारी के बाद ओर भी वारदातों का खुलासा होने की संभावना है। फिलहाल आरोपी से 01 अंगुठी, 01 बैग, चांदी की चैन, चांदी की चुडी नग, चांदी का कडा, ओर एक आधार कार्ड जप्त किया गया है। पुछताछ मे आरोपी ने बताया कि उसके पास लगभग 5 से 7 लाख का लूट का माल ओर रखा है।  


आरोपी पर 35 हजार का था ईनाम 


श्री जैन ने बतया कि आरोपी पर पुलिस अधीक्षक झाबुआ द्वारा 10,000 पुलिस अधीक्षक धार द्वारा 10,000 ओर पुलिस अधीक्षक सिहोर द्वारा 10,000 कुल 35,000 हजार का इनाम घोशित किया गया था। 


टीम होगी पुरस्कृत।


श्री जैन ने बताया कि आरोपी को पकडने मे अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजय डावर के मार्गदर्शन मे एसडीओपी थांदला के निर्देशन मे थाना प्रभारी कोतवाली सुरेन्द्र गडरिया, सउनि राजेन्द्र शर्मा, प्रआर सुनील, आर रूपेश गरवाल , रतन, मनोहर, तानसिंह , मंगलेश , महेश, सदीप का सराहनीय योगदान रहा। उक्त टीम को पुलिस अधीक्षक द्वारा घोशित इनाम से पुरस्कृत किया जाएगा।
Tags: