शनिवार, 21 मार्च 2020

कोविड-19 कोरोना वायरस की रोकथाम एवं बचाव के लिए स्वयं को आईसोलेट करें तथा अपने परिवार, समाज और देश हित में योगदान दें- कलेक्टर राजेश कौल 


बुरहानपुर- भारत देश में तेजी से पनप रहे कोविड-19 कोरोना वायरस की रोकथाम एवं बचाव के लिए शासन से प्राप्त निर्देशानुसार जिला कलेक्टर श्री राजेश कुमार कौल द्वारा अल्प सूचना पर हिन्दू, मुस्लिम, सिक्ख और ईसाइ धर्म गुरूओं की बैठक बुलाई गई। बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री बी.एस.बिरदे, अपर कलेक्टर श्री रोमानुस टोप्पो, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, एसडीएम श्री के.आर.बडोले सहित अन्य गणमान्य नागरिकगण उपस्थित रहे।
बैठक में कलेक्टर श्री कौल द्वारा जानकारी दी गई कि वर्तमान में बढ़ रही इस महामारी का कोई इलाज नहीं मिल पाया है बचाव ही इसका एक मात्र उपाय है। धर्मगुरूओं से अनुरोध है कि, आप समाज में एक महत्वपूर्ण स्थान रखते है। इस बात को ध्यान में रखते हुए लोगों को जागरूक करें कि ईश्वर का वास हर कण-कण में होता है। उसके लिए किसी मंदिर, मजिस्द, गुरूद्वारे, चर्च या अन्य किसी धार्मिक स्थान पर जाने की जरूरत नहीं होती है। ईश्वर स्वयं आपके ही अंदर समाहित है। वर्तमान परिदृश्य में हमें धैर्य और सयमं के साथ सामंजस्य बनाकर इस माहमारी से लड़ना है। भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर जाने की बजाय हम अपने  परिवार के साथ ही समय बिताये।
पुलिस अधीक्षक श्री बिरदे द्वारा कहा गया है कि भारत देश अभी इतना संसाधनों से संपन्न नहीं है जैसें कि इटली, चीन, अमेरीका देश है। इस बीमारी से लड़ने के लिए हमें कम संसाधनों में ही अपने देश को बचाना है। सार्वजनिक रूप से किसी भी जगह एकत्रित ना हो। सतर्क एवं सुरक्षित रहें इसमें ही हमारा बचाव है साथ ही जनता कर्फ्यू का समर्थन करें, अपने घर पर ही रहें।
बैठक में उपस्थित विभिन्न धर्मगुरूओं द्वारा बताया गया कि गुरूद्वारे में जो लंगर नियमित होते है उन्हें 15-20 दिवस के लिये स्थगित कर दिया गया है साथ ही लंगर की अन्य व्यवस्था की गई है अन्य कार्यक्रमों को भी स्थगित कर दिया गया है। हिन्दू धर्मगुरूओं द्वारा कहा गया कि समस्त धर्माचार्यो ने आगामी सभी धार्मिक कार्यक्रमों को स्थगित कर दिया है। ईसाई धर्मगुरू द्वारा बताया कि आने वाले गुड फ्रायडे के लिए प्रत्येक वर्ष जोरो से तैयारियां की जाती है परन्तु वर्तमान स्थिति को देखते हुए हमारे विशप द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार दिनांक 19 से 31 मार्च तक समस्त कार्यक्रम एवं सामाजिक गतिविधियां स्थगित कर दी गई है। मुस्लिम धर्मगुरूओं द्वारा कहा गया कि नमाज घरों में ही अदा की जायेगी तथा फर्ज नमाज के लिए बैठक व्यवस्था में दूरी तय की गई है साथ ही एक मस्जिद में कितने लोग फर्ज नमाज कर सकते है, इसकी संख्या भी निर्धारित करने के निर्देश दिये गये है।
बैठक का उद्देश्य बढ़ रहे कोरोना वायरस के बचाव के लिए समाज के प्रत्येक नागरिक को स्वयं को अन्य से पृथक करने का अनुरोध है क्योंकि यह वायरस एक मानव से दूसरे मानव में संक्रमित होता है। आप हर एक घंटे में अपने हाथों को सेनीटाईज्ड करें, हो सके तो एक घंटा धूप ले, कपड़ों को धूप में अच्छे से सुखायें, बाहर जाने से बचें साथ ही प्रत्येक व्यक्ति से 1 मीटर की दूरी अवश्य तय करें यही बातें आप, आपके परिवार, आपके समाज तथा आपके देश को बचा सकती है।


आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था रम्भापुर में संचालकों के चुनाव के बाद निविरोध चुने गए अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं अन्य संस्था के प्रतिनिधि* *रम्भापुर सोसाइटी के अध्यक्ष बने कमलसिंह हाडा (भुंडीया )*

*ब्युरो दशरथ सिंह कट्ठा झाबुआ...9685952025* झाबुआ - जिलें के मेघनगर के ग्राम रम्भापुर में आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था के संचालको के चुनाव 2...