सोमवार, 20 अप्रैल 2020

बुरहानपुर के माटी के लाल थे कोरोना योध्दा के रूप शहीद उज्जैन में पदस्थ टीआई यशवंत पाल


बुरहानपुर- (मेहलका अंसारी)कोरोना जैसे महामारी से एक योद्धा की तरह लड़ते हुए शहीद हुए  यशवंत पाल बुरहानपुर जिले के निवासी थे। खकनार विकासखण्ड के देडतलाई के पास सातोड ग्राम के कोरकू समाज से प्रतिनिधित्व करते थे। इनके पिता पूर्व निमाड खण्डवा जिले में  जिला पंचायत के सदस्य रह चुके हैं। इनके दो भाई अपने पैतृक गांव सातोड में कृषि करते हैं । पूर्व में  इनके पिता शाहपुर विधानसभा क्षेत्र से विधानसभा चुनाव भी लड चुके हैं ।
यशवंत पाल के अनन्य मित्र आनंद कोसोदे ने जानकारी देते हुए बताया कि हम दोनों ने साथ में सेवासदन काॅलेज से बीए स्नातक किया और सब इंस्पेक्टर की परिक्षा भी साथ में ही दी थी जहाँ उनका सिलेक्शन हो गया था । उनके निधन पर शोक पब्लिक लुक परिवार शोक व्यक्त करता है तथा ईश्वर से प्रार्थना करता है कि ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे ।


देवा शरीफ यूपी के भारत प्रसिद्ध आध्यात्मिक गुरु का आज शुक्रवार को बुरहानपुर आगमन*।

          बुरहानपुर(मेहलका इकबाल अंसारी) भारतीय खानकाही व्यवस्था की अति विश्वसनीय रूहानी शख्सियत, देवा शरीफ यूपी, मुंबई महाराष्ट्र और बुरहान...