मंगलवार, 14 अप्रैल 2020

गेहूँ उपार्जन के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश जारी*    

      बुरहानपुर (मेहलका अंसारी) मध्य प्रदेश शासन,खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग द्वारा रबी विपणन वर्ष 2020-21 में ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीकृत किसानों से समर्थन मूल्य पर गेहूँ का उपार्जन शीघ्र प्रारंभ होने जा रहा है। कोविड-19 कोरोना वायरस को दृष्टिगत रखते हुए जिला कलेक्टर श्री राजेश कुमार कौल द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने हेतु एस.एम.एस.प्राप्त किसानों की ही उपज तौल करने तथा अधिक से अधिक उपार्जन केन्द्रों का निर्धारण करने के निर्देश जारी किये गये है।
    समर्थन मूल्य पर गेहूँ उपार्जन हेतु उपार्जन केन्द्रों की वनरेबल मैपिंग, सहित निम्न व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये है। उपार्जन केन्द्र पर केवल एस.एम.एस.प्राप्त किसानों से ही उपज की तौल की जाये ताकि केन्द्र पर अधिक भीड़ ना हो, वनरेबल उपार्जन केन्द्रों पर विशेष पुलिस बल लगाया जाये, संवदेनशील एवं बडे़ उपार्जन केन्द्रों पर किसानों को अपनी उपज विक्रय करने में असुविधा ना हो इस हेतु पंचायत सचिव/रोजगार सहायक/पटवारी आदि को स्पेशल पुलिस ऑफिसर के अधिकार देकर उनकी ड्यूटी लगाई जाये। एसएमएस प्राप्त किसानों के नाम व मोबाइल नंबर उपार्जन केन्द्र में की लॉगीन में प्रदर्शित कराये गये है। जहाँ केन्द्र प्रभारी एसएमएस प्राप्त किसानों को फोन पर सूचना देगे कि उपज विक्रय करने तथा केन्द्र पर अकेले उपस्थित होने एवं बुजुर्ग/बच्चों/अस्वस्थ्यजनों को केन्द्र पर ना लाये।
    ग्रामीण क्षेत्र के उपार्जन केन्द्र प्रभारी एसएमएस प्राप्त किसानों की सूची पंचायत सचिव/रोजगार सहायक/पटवारी को उपलब्ध कराये जिससे उन्हें पता चल सके कि एसएमएस प्राप्त किसान ही उपज विक्रय के लिए केन्द्र पर आया है।
    उपार्जन केन्द्रों पर जाने हेतु मात्र उन किसानों को ही अनुमति दी जायेगी जिनके मोबाईल पर खाद्य विभाग द्वारा उस दिन आने की सूचना भेजी गई है साथ ही किसानों को यह भी समझाईश दी जाये यदि किसी कारण से वे निर्धारित तिथि को उपार्जन केन्द्र पर नहीं पहुंच पाते है तो उन्हें शीघ्र ही पुनः अवसर दिया जायेगा। कलेक्टर श्री कौल द्वारा उपार्जन केन्द्र प्रभारियों को निर्देशित किया गया है कि वह केन्द्र पर अतिरिक्त तौल काटे, सिलाई मशीन, हम्माल एवं तुलाई की व्यवस्था, पर्याप्त बारदाने, धागा व छापा की व्यवस्था की जाये।


कुल्हाडी मार कर अस्थिभंग करने के मामले में आरोपी को दो वर्ष की सजा और अर्थदण्ड

 छतरपुर- कुल्हाडी मार कर अस्थिभंग करने के मामले में कोर्ट ने फैसला दिया। बिजावर अपर सत्र न्यायाधीश की अदालत ने आरोपी को दो साल की कठोर कैद क...