गुरुवार, 16 अप्रैल 2020

खाद्यान्न वितरण में सोशल डिस्टेन्स का पालन नही हो रहा, हितग्राहियों को समझाईश भी बेअसर 


 बुरहानपुर-  जब से राज्य शासन ने राशन कार्ड विहीन परिवारों को कोरोना कोटा में एक माह का राशन 5 किलो प्रति व्यक्ति निःशुल्क प्रदान करने का निर्णय लिया है तब से बुरहानपुर जिले के बिना कार्ड वाले, अन्त्योदय अन्न परिवार एवं  बी.पी.एल. परिवार कार्ड धारकों द्वारा सरकारी उचित मूल्यों की दुकानों पर अनाज लेने के लिए भीड उमड रही  है। इस दौरान लोगों द्वारा सोशल डिस्टेन्स का पालन बिलकुल भी नही किया जा रहा है ना ही कुछ लोगों द्वारा मुँह पर मास्क लगाया जा रहा है । जिसके कारण संक्रमण का खतरा बढता जा रहा है । लखेरवाडी स्थित उचित मूल्य की दुकान पर हितग्राहियों द्वारा दुकान के दोनो ओर भीड के रूप में इकठ्ठा हो रहे हैं ।जिससे आसपास के निवासियों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है ।



दुकानदारों द्वारा हितग्राहियों को समझाईश देने के बाद भी लोग समझने के लिए तैयार नहीं है । जिला प्रशासन को चाहिए कि जिस प्रकार बैंकों के कियोस्क सेंटर के माध्यम से घर-घर जाकर नगद राशि वितरण का निर्णय किया गया  उसी प्रकार सरकारी उचित मूल्यों की दुकानों द्वारा भी हितग्राहियों के घर-घर तक अनाज पहुंचाने की व्यवस्था की जाए जिससे  सोशल डिस्टेन्स का पालन भी होता रहे और संक्रमण का खतरा भी नहीं हो और हितग्राहियों को धूप से भी राहत मिल सकती है ।


आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था रम्भापुर में संचालकों के चुनाव के बाद निविरोध चुने गए अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं अन्य संस्था के प्रतिनिधि* *रम्भापुर सोसाइटी के अध्यक्ष बने कमलसिंह हाडा (भुंडीया )*

*ब्युरो दशरथ सिंह कट्ठा झाबुआ...9685952025* झाबुआ - जिलें के मेघनगर के ग्राम रम्भापुर में आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था के संचालको के चुनाव 2...