बुधवार, 15 अप्रैल 2020

शैक्षणिक सत्र 2020-2021 में ऑफ लाइन प्रवेश प्रक्रिया प्रारंभ करने हेतु मुख्यमंत्री से किया अनुरोध


  बुरहानपुर(मेहलक़ा अंसारी) सेवा सदन महाविद्यालय बुरहानपुर के उर्दू एवं फारसी विभाग अध्यक्ष एवं उर्दू अनुसंधान केंद्र के संचालक डाक्टर एस एम शकील ने टि्वटर पोस्ट के माध्यम से मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री से निवेदन किया है कि देश की वर्तमान परिस्थितियों के संदर्भ में एवं वर्तमान शैक्षणिक सत्र में हो रहे विलंब के मद्देनजर छात्र-छात्राओं के व्यापक न्याय हित में चालू शैक्षणिक सत्र 2020-2021 में प्रवेश हेतु विशेष परिस्थितियों में ऑफ लाइन प्रवेश की अनुमति प्रदान की जाए। डॉक्टर एस एम शकील ने बताया कि चूंकि भारतीय प्रधानमंत्री द्वारा 3 मई 2020 तक लॉक डाउन बढ़ाया गया है एवं ऐसी स्थिति में बोर्ड की परीक्षाएं विलंब से होना एवं विलंब से परिणाम घोषित होना स्वाभाविक लगता है। आगे क्या स्थिति बनती है यहां भविष्य के गर्भ में है। ईश्वर से आशा है कि भारत में सब कुछ कुशल मंगल होगा। उच्च शिक्षा विभाग द्वारा शैक्षणिक सत्र 2008 2009 से कॉलेजों में ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया प्रारंभ की गई है जो सतत जारी है किंतु इस वर्ष की  परिस्थितियां ऑनलाइन एडमिशन के अनुकूल नहीं है ऐसी स्थिति में माननीय मुख्यमंत्री महोदय से निवेदन है कि प्रदेश के आपके प्यारे भांजे भांजियों के व्यापक न्याय हित में एवं उनके उज्जवल एवं स्वर्णिम भविष्य को ध्यान में रखते हुए इस वर्ष होने वाली समस्त फैकल्टी की प्रवेश प्रक्रिया को ऑफ लाइन कर छात्र छात्राओं को राहत प्रदान करेंगे ।


आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था रम्भापुर में संचालकों के चुनाव के बाद निविरोध चुने गए अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं अन्य संस्था के प्रतिनिधि* *रम्भापुर सोसाइटी के अध्यक्ष बने कमलसिंह हाडा (भुंडीया )*

*ब्युरो दशरथ सिंह कट्ठा झाबुआ...9685952025* झाबुआ - जिलें के मेघनगर के ग्राम रम्भापुर में आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था के संचालको के चुनाव 2...