सोमवार, 25 मई 2020

देवास पुलिस बनी बिन मां की बेटी का परिवार विवाह करवाया और दिया खुशियों का उपहार

देवास (शाकिर अली दीप)25 मई 2020 का योग "सात" और इस सात के अंक के आसपास है पुलिस के सकारात्मक सहयोग,सद्भावना की सुन्दर कहानी जिसमे बिना मां की एक बेटी को सात फैरे और सात वचन लेने मे वर्दी ने रिश्तों का कंचन रुप दिखाया और कविता का परिवार बनकर उसका विवाह करवाया । लॉकडाउन मे पुलिस कोरोना योद्धा की भूमिका में तो नजर आ ही रही है, भोजन और मास्क बांटकर प्रशंसा भी पा रही है । पुलिस जब किसी का साथ निभाती है तब वह घर भी बसाती है और सेवा की मिसाल बनकर भी सामने आती है । पुलिस द्वारा किया गया ऐसा ही एक श्रेष्ठ कार्य समाज में एक प्रेरणा संदेश भी बना है। सोमवार को पुलिस अधीक्षक श्रीमती कृष्णावेणी देसावतु की प्रेरणा से देवास की बिटिया कविता की शादी त्रिलोक नगर के युवक जितेंद्र से हुई है। शादी में पुलिस विभाग के अधिकारी,कर्मचारियों ने बिटिया की मां नहीं होने पर मां और परिवार की कमी को पूरा किया। साथ ही मामा के परिवार का फर्ज निभाते हुए मामेरा भी किया । पुलिस ने कविता को गृहस्थी का सामान भी दिया। पुलिस अधीक्षक श्रीमती कृष्णावेणी देसावतु सहित अन्य पुलिस के अधिकारियों ने वर वधू को आशीर्वाद देकर बिदाई दी। कविता की इस शादी से सभी परिजन खुश हुए और सभी को धन्यवाद दिया। देवास पुलिस अधीक्षक कृष्णावेणी के वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में राजीव नगर स्थित फूलचंद प्रजापत की बिटिया कविता का कन्यादान पुलिस द्वारा किया गया । पुलिस अधीक्षक कृष्णावेणी देसावतु ने बताया कि कविता की माँ नही है और पिता की नौकरी भी लॉकडाउन के चलते छूट गई थी। जिसके चलते पुलिस विभाग ने बिटिया की शादी करने का जिम्मा उठाया था। उसी के चलते आज उसकी शादी में घर की जरूरत का सामान पुलिस विभाग की ओर से दिया गया है। उप पुलिस अधीक्षक किरण शर्मा ने बताया कि बिटिया की शादी त्रिलोक नगर के रहने वाले युवक जितेंद्र पिता देवकरण के साथ हुई है। जितेंद्र व उसके पिता फर्नीचर के कारीगर हैं। किरण शर्मा ने बताया कि बिटिया की शादी में देवास के पुलिस अधिकारी एवं समस्त कर्मचारियों ने बच्ची के मामा बनकर इस कन्यादान में भाग लिया। उन्होंने बताया की बिटिया की मां नहीं है और पिता ठेकेदारी में छोटी कंपनी में काम करते थे जिनकी लॉकडाउन में नौकरी भी छूट गई थी। पिता शादी के लिए परेशान हो रहे थे और कर्जा लेने के लिए घूम रहे थे ईश्वर की विशेष कृपा से उनका हमारी पाठशाला से संपर्क हुआ तो हमने बच्ची के मामा बनकर उसका कन्यादान करने का निर्णय लिया था। जिस पर विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को इस बात से अवगत कराया तो सभी का पूर्ण सहयोग प्राप्त हुआ। पुलिस के कर्मचारियों से संपर्क किया गया तो सभी कर्मचारियों ने दिल से मदद की। यह दिया जरुरी सामान पुलिस विभाग की ओर से दुल्हन कविता को फ्रिज, टीवी, कूलर, बर्तन, कृष्ण भगवान , सिंहासन ,पूजन सामाग्री देकर फलदान भी किया गया। सभी सामान दुल्हन कविता व दूल्हे जितेंद्र को पुलिस अधीक्षक कृष्णावेणी के हाथों दिया गया । इस खुशनुमा मौके पर एएसपी जगदीश डावर, सीएसपी अनिल सिंह राठौर, उप पुलिस अधीक्षक किरण शर्मा, प्रतिष्ठा राठौर सहित अनेक थाना प्रभारी और पुलिस का अमला मौजूद रहा । कविता और जितेन्द्र सहित उनके परिवार ने भी उनका घर बसाने वाले पुलिस विभाग का आभार व्यक्त किया । पुलिस के इस कार्य की प्रशंसा की जा रही है ।


बुरहानपुर जिले में मानसिक रूप से विक्षिप्त महिला के साथ दुष्कर्म करने वालों के खिलाफ पुलिस की कार्यवाही, संदिग्धों को पकड़कर की जा रही है कडी पूछ-ताछ

 बुरहानपुर- महिलाओ पर हो रहे अपराध को लेकर पुलिस पुरी तरह से सजग नजर आ रही है। बुरहानपुर जिले के  देढ़तलाई में कल मानसिक रूप से निःशक्त महिला...