बुधवार, 6 मई 2020

कोरोना को हराने मे जिला प्रशासन दिखाये सह्रदयता -  प्रोफेसर एस .इमादुद्दीन    सोशल मीडिया के माध्यम से रखी अपनी बात....


 बुरहानपुर। कोरोना माहमारी के चलते इस संकट की घड़ी में बुराहनपुर ज़िले में नवागत कलेक्टर के कार्यभार सम्भालते ही जिस तेजी के साथ ज़िले को अधिक संक्रमण से रोकने के लिए जो कारगर उपाय किये उसके लिए प्रोफेसर एस .इमादुद्दीन पूर्व अध्यक्ष एम.पी.मदरसा बोर्ड (पूर्व कैबिनेट मंत्री दर्जा) ने आभार व्यक्त करते हुए जिला कलेक्टर प्रवीण सिंह को सोशल मीडिया के माध्यम से ज़िला प्रशासन को एक सुझाव दिया है कि  हमको आम जनता में फैली कुछ भ्रांतियों का निराकरण करना होगा ,ताकि लोग बे खौफ हो कर अपना इलाज करवाएं , उन्होंने कलेक्टर को बताया कि जैसा आपने एक आदेश निकाला कि यदि कोई व्यक्ति साधरण मौत भी हॉस्पिटल में मरता है ,तो उसके शव को घर नही ले जाया जाएगा ,सीधे अंतिम संस्कार के लिए कब्रस्तान या शमसान ले जाना होगा ,और सिर्फ 4 व्यक्ति ही अंतिम यात्रा में शामिल हो सकते है, 
    ये बात सही है कि आप भी WHO द्वारा निर्धारित प्रोटोकाल से बंधे हुए है ,लेकिन हमारे देश मे मरने के बाद सब धर्म अपने अपने तरीके से विधि विधान से अंतिम संस्कार करते हैं और ये ही मरने वाले और उसके परिवार की इच्छा भी होती है, परन्तु सैय्यद इमादुद्दीन ने जिला प्रशासन से अनुरोध किया है कि हॉस्पिटल में साधारण मृत्यु उपरांत जो भी धर्म का व्यक्ति मरता है , उसको धार्मिक विधि विधान पुरा करने जैसे मुस्लिम रीति में शव को स्नान दे कर कफन  देना आदि इसी प्रकार सनातन धर्म के अपने रीति रिवाज है,इसी तरह अन्य धर्मों के,इसके लिए नगर निगम के माध्यम से अलग अलग धर्मो का  एक स्थान निधचित कर दिया जाए जहां पर हॉस्पिटल में सामान्य मौत के जनाज़े (शव) को तैयार कर उसका उसके धर्म की रीति अनुसार अंतिम संस्कार किया जा सके, दूसरा यहां शव वाहिनी की भी व्यवस्था की जाए ताकि जो संख्या अंतिम संस्कार में निर्धारित की गई है उनके द्वारा सरलता से अंतिम संस्कार किया जा सके! 
मदरसा बोर्ड पूर्व चैयरमैन ने बताया कि उपरोक्त उपाय करने से लोगो मे विश्वास की भावना आएगी और उनको ये पता होगा कि ईश्वर न करे इलाज के दौरान किसी की मृत्यु हो जाती है तो उसका अंतिम संस्कार उसके धार्मिक रीति नीति से हो सके गा,और परिवार कर लोग निर्भीक हो कर अपने मरीज़ को हॉस्पिटल में भर्ती करवाएंगे,उपरोक्त उपाय करने में यदि आप सभी समाज के लोगो का सहयोग चाहते हैं ,तो वो भी मिल सकता है 
  एस.इमादुद्दीन ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपनी बात रखने हुए जन हित मे उपरोक्त समस्या का निराकरण करने का अनुरोध किया है ।                                                                         
    मुईन अख्तर खान की रिपोर्ट