शनिवार, 9 मई 2020

समाजजनों ने महाराणा प्रताप की जयंती मनाई

खिरकिया - महाराणा प्रताप जयंती के अवसर पर राजपूत समाज द्वारा प्रशासन के नियम का पालन करते हुए महाराणा प्रताप चौक छीपाबड़ स्थित प्रतिमा पर माल्यार्पण कर साधारणरूप से कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें समाज के सभी वरिष्ठजन उपस्थित हुए। माल्यार्पण कार्यक्रम के पश्च्यात समाजसेवी श्री जय सिंह राजपूत (सियान रे स्कूल) छीपाबड़ के सहयोग से नगर के सफाई कर्मचारियों का पुष्पहार एवं मिठाई वितरित कर सम्मान किया गया। साथ ही समाजसेवी श्री राकेश जी राजपूत( आर.एन. टेलर) खिरकिया परिवार द्वारा सफाई कर्मचारियों व अन्य सभी व्यक्तियो को मास्क का वितरण किया गया। तत्पश्चात राजपूत समाज के वरिष्ठ जनों ने अपने विचार रखे और कहा कि महाराणा प्रताप उस समय अकेले ऐसे राजपूत राजा थे। जिन्होंने अपने से कई गुना शक्तिशाली अकबर से लोहा लिया। उनके साथ रहने वाले सभी राजपूत अकबर के साथ मित्रता कर लिये। खुद राणा प्रताप का भाई अकबर का सेनापति हुआ करता था। अकेले मुगल साम्राज्य के विरुद्ध झंडा बुलंद किया। उनके पिता चित्तौड़ गढ़ दुर्ग पर जब अकबर ने आक्रमण किया और कब्जा कर लिया मगर उदय प्रताप सिंह ने अकबर की प्रधानता स्वीकार नहीं किया। उनकी मृत्यु के बाद चित्तौड़ की विरासत को राणा प्रताप ने संभाला और गोरिल्ला युद्ध के माध्यम से अकबर को नाको चना चबवाया ऐसी अन्य ऐतिहासिक बातों से अवगत कराया गया। इसके साथ ही रात्रि 8:00 बजे महाराणा प्रताप की प्रतिमा के समक्ष 101 दीपक लगाकर आतिशबाजी की गई। इस दौरान समस्त राजपूत समाज के समाज जन उपस्थित हुए।


नकली दस्तावेजों के आधार पर जमीन बेचने वाले को न्यायालय ने दिया पाक 5 वर्ष का सश्रम कारावास

 अतिरिक्त‍ लोक अभियोजक श्री सुनील कुरील अभियोजित एक महत्वपूर्ण प्रकरण में मा. अपर सत्र न्यायाधीश श्री आर.के.पाटीदार बुरहानपुर द्वारा आरोपीगण...