रविवार, 10 मई 2020

सरकार का बड़ा फैसला 12 मई को आ रही ट्रेन...... प्रवासी मजदूरों की मौत के बाद लिया निर्णय.....


मुम्बई । कोरोना महामारी के बीच भारतीय रेलवे 12 मई 2020 से यात्री ट्रेन संचालन को धीरे-धीरे फिर से शुरू करने की योजना तैयार कर रही है। इस बारे में मीडिया से जानकारी साझा करते हुए भारतीय रेलवे ने कहा है कि शुरुआत में 15 जोड़ी ट्रेनों (30 वापसी यात्रा) के साथ चलाई जाएंगी।
ये ट्रेनें डिब्रूगढ़, अगरतला, हावड़ा, पटना, बिलासपुर, रांची, भुवनेश्वर, सिकंदराबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, तिरुवनंतपुरम, मडगांव, मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद और जम्मू तवी को जोड़ने वाली नई दिल्ली स्टेशन से विशेष ट्रेनों के रूप में चलाई जाएंगी।
इन ट्रेनों में आरक्षण के लिए बुकिंग 11 मई को शाम 4 बजे शुरू होगी और केवल IRCTC की वेबसाइट पर उपलब्ध होगी। रेल मंत्रालय ने इस बात की जानकारी दी है। 
इस बारे में रेलवे ने कई खास नियम साझा किए हैं। रेल मंत्रालय की मानें तो यात्रियों को चेहरा ढंकना अनिवार्य होगा और प्रस्थान के समय स्क्रीनिंग से गुजरना होगा और केवल यात्रियों को ट्रेन में चढ़ने की अनुमति होगी। ट्रेन कार्यक्रम सहित अन्य विवरण अलग-अलग समय पर जारी किए जाएंगे।
रेलवे के मुताबिक, स्टेशनों पर टिकट बुकिंग काउंटर बंद ही रहेंगे। प्लेटफॉर्म टिकट, काउंटर टिकट नहीं जारी किए जाएंगे।
बता दें कि आज ही रेलवे मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर कहा है कि रेलवे लॉकडाउन में फंसे सभी लोगों को जल्द गंतव्य तक पहुंचाने की प्रयास कर रहा है। इसके साथ ही रेल मंत्री पीयूष गोयल ने सभी राज्यों से अपील की है कि वे ट्रेनें चलाने की इजाजत दें ताकि फंसे हुए मजदूरों को उनके घर तक पहुंचाया जा सके।
उन्होंने कहा कि रेलवे कम समय के नोटिस पर हर रोज 300 श्रमिक एक्सप्रेस चलाने में सक्षम है। गृह मंत्री अमित शाह द्वारा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को इस तरह की रेलगाड़ियां चलाने की अनुमति देने के लिए पत्र लिखने के बाद रेल मंत्री ने यह अपील की है।
पीयूष गोयल ने रविवार को ट्वीट किया, ‘‘माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के निर्देशों के मुताबिक रेलवे बेहद कम समय के नोटिस पर प्रतिदिन 300 श्रमिक विशेष रेलगाड़ियां चलाने के लिए बीते छह दिनों से तैयार है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं सभी राज्यों से अपील करता हूं कि अपने फंसे श्रमिकों को निकालने और वापस लाने की अनुमति दें ताकि अगले तीन-चार दिनों में हम उन सभी को वापस घर पहुंचा सकें
मुईन अख्तर खान की रिपोर्ट


नकली दस्तावेजों के आधार पर जमीन बेचने वाले को न्यायालय ने दिया पाक 5 वर्ष का सश्रम कारावास

 अतिरिक्त‍ लोक अभियोजक श्री सुनील कुरील अभियोजित एक महत्वपूर्ण प्रकरण में मा. अपर सत्र न्यायाधीश श्री आर.के.पाटीदार बुरहानपुर द्वारा आरोपीगण...