मंगलवार, 9 जून 2020

बुरहानपुर में कोरोना ने खत्म किया हेलमेट का चलन, लोगों में ना सुरक्षा की चिन्ता ना मन में चालान का डर


बुरहानपुर-सरकार की ओर से लॉकडाउन में ढील मिलते ही लोग मोटर साइकिल पर हवा से बातें करते हुये सडकों पर दौड रहे हैं। कोरोना वायरस के चक्कर में लोग दुर्घटनाओं को भूल गए और लापरवाह हो गए हैं। जो शरीर के लिए खतरा साबित हो सकता है। शहर के सभी प्रमुख चौराहे चौराहे से गुजरते हुए कई लोग केवल मास्क लगाए नजर आ रहे हैं ऐसा लग रहा है कि केवल कोरोना से ही उन्हें खतरा है। बिना हेलमेट वाहन चलाने से अब उन्हें कोई खतरा नहीं है। जबकि बुरहानपुर जिले में पूर्व में वाहन दुर्घटनाओं की काफी संख्या में बढ़ोतरी हुई थी और कई लोग बिना हेलमेट के घायल होने पर दम भी तोड़ चुके हैं, लेकिन ऐसा लगता है कि इस कोरोना वायरस के चक्कर में लोग हेलमेट को भूलते जा रहे हैं और बिना हेलमेट के वाहनों पर दो सवारी, तीन सवारी बैठाकर सडकों पर सरपट दौडे जा रहे हैं।



बुरहानपुर शहर के जयस्तभ, शनवारा और सिंधीबस्ती चौराहों पर ट्रैफिक पुलिसकर्मी पूर्व की तरह से अपनी ड्यूटी दे रहे हैं, लेकिन अब उनके आगे से कोई बिना हेलमेट, तीन सवारी, बिना नम्बरी वाहन और वाहन चलाते हुए मोबाइल पर बातचीत करते निकल रहा है तो पुलिसकर्मी ज्यादा ध्यान नहीं दे रहे हैं। कुछ पुलिसकर्मी जरुर यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों को रोककर समझाइश कर रहे हैं। कोरोना वायरस से सुरक्षा के तौर पर पुलिसकर्मी भी सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखकर अपनी ड्यूटी का पालन कर रहे हैं।



शहर में बिना हेलमेट वाहन चालकों की प्रतिदिन जांच की जा कर उनके चालान भी बनाए जा रहे हैं और वाहन चालकों को मास्क और हेलमेट अनिवार्य रूप से लगाने की समझाईश भी दी जा रही है


ट्रैफिक सूबेदार हेमंत पाटीदार (बुरहानपुर)


बुरहानपुर जिले में मानसिक रूप से विक्षिप्त महिला के साथ दुष्कर्म करने वालों के खिलाफ पुलिस की कार्यवाही, संदिग्धों को पकड़कर की जा रही है कडी पूछ-ताछ

 बुरहानपुर- महिलाओ पर हो रहे अपराध को लेकर पुलिस पुरी तरह से सजग नजर आ रही है। बुरहानपुर जिले के  देढ़तलाई में कल मानसिक रूप से निःशक्त महिला...