शुक्रवार, 5 जून 2020

जानिएं बुरहानपुर जिले में कहाँ खुदाई में मिले प्राचीन कालीन चांदी के सिक्कों का खजाना


बुरहानपुर विगत 4 महीनों से लगातार लाकडाऊन लगा हुआ था और सभी लोग अपने घरों में सुरक्षित रह रहे थे जैसे ही अनलॉक प्रथम चरण प्रारंभ हुआ और बुरहानपुर जिला कलेक्टर द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में मनरेगा के तहत कार्य करने की अनुमति दी वैसे ही बुरहानपुर जिले में मजदूरों के हाथ खजाना लग गया। जी हाँ हम बात कर रहे हैं बुरहानपुर जिले के देडतलाई के अंतर्गत ग्राम चौखंड्या की जहां मजदूरों द्वारा मनरेगा के तहत रोजगार गारंटी कार्य किए जाने हेतु मजदूरों ने जैसे ही गैती से खुदाई प्रारंभ कि वहां प्राचीन कालीन खजाना ऊपर आ गया।



जानकारी के अनुसार इस घड़े में 260 प्राचीन कालीन चांदी के सिक्के प्राप्त हुए हैं खकनार थाना प्रभारी केपी धुर्वे ने जानकारी देते बताया कि प्राचीन कालीन चांदी के सिक्के मिलने की जानकारी मिलने पर देडतलाई चौकी प्रभारी हंस कुमार झिझोंरे द्वारा पहुँच कर वहाँ से मजदूरों सिक्कों को लाकर थाने में जमा कराया गया है।



इतिहासकार बोले यह मुगलकालीन सिक्के इतिहासकार कमरुद्दीन फलक ने बताया कि खुदाई के दौरान मिले यह सिक्के मुगलकालीन चांदी के है। सिक्कों पर बादशाह अकबर, जहांगीर और शाहजहां का नाम लिखा है। जबकि कुछ सिक्के शेर शाहसूरी के समय के भी है। शाहजहां के समय बुरहानपुर की जनसंख्या 9 लाख थी। इस लिए यहां पर संभवित लोग वहां पर निवास करते होगे। जमीन से बाहर निकले घड़े में लगभग 40 से 45 सालों के अंदर यह सिक्के जमा किए गए है। इन सिक्कों की अंतर राष्ट्रीय बाजार में मूल्य अधिक है। प्रशासन से अनुमति लेने के बाद सिक्के मिलने वाली जगह का जायजा लिया जाएगा। बुरहानपुर ऐतिहासिक शहर होने से यहां पर पूर्व में खुदाई के दौरान सिक्के जमीन से खुदाई के दौरान बाहर निकले है


. देडतलाई से सैय्यद सद्दाम की रिपोर्ट


 


कुपोषित बच्चों को खिलाया पोष्टिक आहार, बताया महत्व

बुरहानपुर। शहर के आलमगंज सेक्टर के अंतर्गत सिंधीपुरा आंगनवाड़ी केंद्र 4 पर बाल भोज कराया गया। कार्यकर्ता मंजू सिंह ठाकुर ने बताया गुरुवार को...