शनिवार, 13 जून 2020

जिले की दुकाने सप्ताह में 3 दिन खुलने,बिजली बिल माफ करने,ऑटो,टेम्पो,चालू करने,टीचरों से शराब दुकानों का कार्य ना लिए जाने,राशन दुकान प्रारम्भ किये जाने,बैंक में लोगों को उनके रुपये दिए जाने हेतु कलेक्टर बुरहानपुर के मार्फत मुख्यमंत्री को लिखा पत्र बाबत


बुरहानपुर (मेहलक़ा अंसारी) जिला कांग्रेस कमेटी बुरहानपुर के अध्यक्ष अजय सिंह रघुवंशी ने कलेक्टर बुरहानपुर के मार्फत मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय शिवराज सिंह चौहान को एक पत्र लिखकर अवगत कराया है कि ज्ञात हो कि लॉक डाउन के पश्चात अब धीरे धीरे सभी प्रतिष्ठान आदि खोलने को अनुमति दी जा रही है,किन्तु इनके पश्चात भी प्रशासन द्वारा सभी से भेदभाव किया जा रहा है। अतः हमारी निम्न मांगो को जनहित में तत्काल स्वीकारे.. तथा प्रशासन को आदेश प्रदान करे:- 1) चूंकि शहर में दुकाने खोलने के लिए नंबरिंग की गई है,किन्तु इस हिसाब से एक दुकान को एक हफ्ते में एक बार ही खोलने की अनुमति है,जिससे हो ये रहा है कि एक बार दुकान खुलने से उस मे खरीदी हेतु भीड़ टूट पड़ती है ,जिसे प्रशासन सोशल डिस्टनसिंग का अभाव बता रहा है। किन्तु दूसरी तरफ बिजली के बिल भरने में जो भीड़ उमड़ रही है,उससे सोशल डिस्टनसिंग नही हो रही,शराब की दुकानों पर दिन भर देर रात तक जो भारी भीड़ उमड़ रही है,उसे सोशल डिस्टनसिंग की तकलीफ नही,.? मतलब जहां जहाँ से सरकार को आय होगी,वहां वो सोशल डिस्टनसिंग को नजर अंदाज करेगी,बाकी जगह पर उन्हें इससे तकलीफ है। नगर की सभी दुकाने हफ्ते में लगभग तीन दिन खुलना चाहिए,जिससे कि भीड़ ना हो.। 2) आम जनता पहले ही इस लॉक डाउन में टूट चुकी है,ओर अब ऊपर से आपके द्वारा दिये जा रहे भारी भरकम बिलो से ओर अधिक दुखी है और भरने में असमर्थ है,अत हमारे द्वारा लगातार मांग की जा रही है कि तीन माह के बिजली बिल सभी के माफ किये जायें। 3) अब जबकि सभी उधोग धंधे दुकाने शराब दुकान चालू हो ही गई है तो ऑटो,टेम्पो,तांगा वालो को इससे वंचित क्यों रखा जा रहा है। ये लोग भी इतने सक्षम नही की इतने महीने बैठ कर खा सके,ऊपर से आपके द्वारा कोई आर्थिक मदद तक नही दी जा रही है,अतः ऑटो टेम्पो तथा तांगा को भी अनुमति प्रदान करे। अन्यथा उन्हें आर्थिक सहायता दे। 4) बड़े शर्म का विषय है की सरकार अपनी आय बढ़ाने के लिए ऐसे ऐसे निंदनीय कार्य कर रही है जिससे कि पूरा प्रदेश आप पर हंस रहा है,आपने शराब दुकानों पर शराब बेचने के लिए पहले महिलाओं की नियुक्ति की,इससे निंदनीय कार्य हो नही सकता,जब कांग्रेस ने विरोध की तो आपने महिलाओं का आदेश वापस कर अब शिक्षकों की ड्यूटी लगा दी,ये भी कम शर्म की बात नही की शिक्षा देने वाले अब अपने शिष्यों को शराब पिलायेंगे। आप भी किसी के शिष्य रहे होंगे।अपने गुरुजन ऐसा अपमान आपके अंहकार को धूल में मिला देगा। ऐसे आदेश को तत्काल निरस्त करें। 5) ज्ञात हो कि कमलनाथ जी की सरकार ने 3 माह का राशन पूरे प्रदेश में वितरित कर दिया था,जिसके सुखद परिणाम थे कि आपके 3 माह के बन्द में भी आम जनता सड़को पर नही आई,अन्यथा आपका रोड पर निकलना मुश्किल हो जाता।इस माह का भी अभी तक नही दिया गया है,आपकी मंशा है भी या नही देने की कृपया स्पष्ट करे।अन्यथा राशन की सभी दुकानों को खोलने के आदेश दे कर आम जनता को राशन वितरित करें। 6) लॉक डाउन के लगभग 3 माह में जिले के मोहल्ला क्लीनिक भी बंद रहे है,जिससे आम जनता को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा है। अब चूंकि हालात काबू में है और सभी सामान्य हो रहा है तो मोहल्ले के चलने वाले क्लीनिकों को भी खोलने की अनुमति प्रदान करे। 7) महोदय,ज्ञात हो कि बैंक खोलने के आदेश तो दे दिए गए किन्तु आम जनता के रुपयों का लेनदेन आदि कार्य बैंक बिल्कुल भी नही कर रही। जिससे बैंकों में भी उमड़ तो रही है किंतु काम किसी के भी नही हो रहे है,अतः बैंको को आदेश प्रदान किये जायें की रुपयों का लेनदेन प्रारम्भ कर आम जनता के निशक्त जन,वृद्ध जन,कल्याणी,के खातों को आधार कार्ड से अपडेट भी करे ताकि उनकी पेंशन आदि उन्हें प्राप्त हो सके।