मंगलवार, 23 जून 2020

पवित्र हज यात्रा 2020: केवल स्थानीय निवासियों को मिलेगी हज की अनुमति*

खंडवा (मेहलका अंसारी) मध्य प्रदेश हज वेलफेयर सोसायटी के अध्यक्ष मुकीत खान एवं सचिव एबाद अहमद ने संयुक्त रुप से बताया कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण इस वर्ष भारत से पवित्र हज यात्रा को लेकर पिछले कुछ महीनों से बनी असमंजस की स्थिति अब पूर्णत: स्पष्ट हो गई है । सऊदी अरब सरकार के हज मंत्रालय ने आधिकारिक रूप से इस बात की पुष्टि कर दी है। अधिकारिक जानकारी में बताया गया है, कि इस वर्ष कोरोना संक्रमण की वजह से अगस्त 2020 के पहले सप्ताह में होने वाले हज की अदायगी सीमित संख्या में केवल सऊदी के स्थानीय निवासी ही कर सकेंगे। किसी भी अन्य देश से हज के लिये आने वालों को अनुमति नही रहेगी। सऊदी सरकार सामाजिक दूरी के अतिरिक्त कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये सभी सुरक्षात्मक प्रावधान अपनाएगी। उल्लेखनीय है, कि इस वर्ष मध्यप्रदेश से 4864 लोगों का हज पर जाने के लिये चयन किया गया है। मध्यप्रदेश हज वेलफेयर सोसायटी के चैयरमेन मुकीत खान ने पिछले दिनों भारत सरकार के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी को भेजे गए पत्र में माँग की थी कि इस वर्ष यदि हज यात्रा निरस्त होती है तो जिन आवेदकों का इस वर्ष हज के लिये चयन हुआ है उन्हें अगले वर्ष आरक्षण श्रेणी में रख हज का अवसर प्रदान किया जाए । इस आशय की कॉपी केंद्रीय हज कमेटी के कार्यवाहक चैयरमेन शेख जिना नबी और सभी हज कमेटी सदस्यों को भी प्रेषित की गई है । जनरल सेक्रेट्री सैयद रियाज़ ने भारतीय हज यात्रियों के हित मे न्यायोचित कदम उठाए जाने की माँग की है । उन्होंने कहा कि हर मुसलमान का सपना होता है कि वह ज़िन्दगी में एक बार पवित्र हज यात्रा पर जाए इस हेतु वह अपनी कमाई में से कुछ हिस्सा हज के लिये जोड़ता रहता है, जब उसका हज के लिये चयन होता है तो उसकी खुशी का ठिकाना नही होता । इस वर्ष महामारी के चलते हज यात्रा न होने से लोगों में मायूसी है यदि जल्द ही उन्हें अगले वर्ष के लिये आरक्षित कर प्राथमिकता दिए जाने की घोषणा कर दी जाये तो यह उनके लिए निश्चिंता और प्रसन्नता की बा


कुपोषित बच्चों को खिलाया पोष्टिक आहार, बताया महत्व

बुरहानपुर। शहर के आलमगंज सेक्टर के अंतर्गत सिंधीपुरा आंगनवाड़ी केंद्र 4 पर बाल भोज कराया गया। कार्यकर्ता मंजू सिंह ठाकुर ने बताया गुरुवार को...