सोमवार, 27 जुलाई 2020

बुरहानपुर जिले में कोरोना के अब केवल 13 एक्टिव पेशेंट,27 जुलाई 2020 के हेल्थ बुलेटिन में दी गई जानकारी*


बुरहानपुर(मेहलक़ा अंसारी) जिला स्वास्थ्य अधिकारी बुरहानपुर श्री विक्रम सिंह वर्मा द्वारा दिनांक 27 जुलाई 2020 बुधवार को जारी हेल्थ बुलेटिन में कोरोना पॉज़िटिव के एक्टिव पेशेंट की तादाद केवल 13 बताई गई है। हेल्थ बुलेटिन के अनुसार पिछले 24 घंटे में 5 नवीन पेशेंट के मिलने के साथ कोरोना पॉज़िटिव की संख्या 464 हो गई है। इन 464 पेशेंट में से 428 पेशेंट स्वास्थ्य लाभ लेकर अपने घर जा चुके हैं तथा 23 की मौत हुई है। इस प्रकार अब केवल 13 एक्टिव पेशेंट ही रह गए हैं। हालांकि जो नए पेशेंट सामने आ रहे हैं, वह शहर के बजाए गांव देहात के आ रहे हैं और अपर कलेक्टर बुरहानपुर द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों को कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित किया जा रहा है। 20 जुलाई 2020 से 27 जुलाई 2020 के हेल्थ बुलेटिन का अवलोकन करने से यह बात स्पष्ट होती है कि बुरहानपुर में जहां प्रतिदिन कुछ मरीजों के बढ़ने के साथ-साथ स्वस्थ होने वालों का आंकड़ा भी बराबर बराबर है। यही कारण है कि एक्टिव पेशेंट की संख्या 20 से कम ही है। कलेक्टर बुरहानपुर श्री प्रवीण सिंह ने जागरूक रहकर जो कार्य किए हैं, जिनमें मुख्य रूप से महाराष्ट्र के कुछ शहरों से आवागमन को दोनों तरफ से प्रतिबंधित करना, उसके कारण ही बुरहानपुर सुरक्षित रह पाया है। बुरहानपुर जिले में पेशेंट में कमी लाने में सबसे ज्यादा सराहनीय भूमिका एवं सक्रियता कलेक्टर बुरहानपुर श्री प्रवीण सिंह ने दिखाई है, उनकी कुशल रणनीति के कारण ही बुरहानपुर ग्रीन जोन में आया है। गत सप्ताह मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी कलेक्टर बुरहानपुर कार्यों की प्रशंसा करते हुए संपूर्ण मध्यप्रदेश में बुरहानपुर मॉडल को अपनाने की सलाह दी है। आयुक्त वाणिज्य कर मध्य प्रदेश, जो बुरहानपुर जिले की कोविड-19 के प्रभारी हैं, उन्होंने कलेक्टर एवं संपूर्ण टीम की प्रशंसा की है। कलेक्टर बुरहानपुर श्री प्रवीण सिंह की 3 मई 2020 को जॉइनिंग के पश्चात कोरोना के मरीजों की संख्या 464 पहुंचने और तेजी के साथ 428 मरीजों की रिकवरी होना अपने आप में एक बड़ी उपलब्धि कहा जा सकता है। और इस करिश्माई उपलब्धि का श्रेय कलेक्टर बुरहानपुर श्री प्रवीण सिंह एवं उनकी टीम को जाता है।


कुल्हाडी मार कर अस्थिभंग करने के मामले में आरोपी को दो वर्ष की सजा और अर्थदण्ड

 छतरपुर- कुल्हाडी मार कर अस्थिभंग करने के मामले में कोर्ट ने फैसला दिया। बिजावर अपर सत्र न्यायाधीश की अदालत ने आरोपी को दो साल की कठोर कैद क...