रविवार, 30 अगस्त 2020

हज़रत इमाम हुसैन की शहादत को रक्त दान देकर असहाबे सुफ्फा एजुकेशन सोसाइटी ने किया याद


हज़रत इमाम हुसैन को मुहर्रम की 10 तारीख को कर्बला के मैदान में हक और बातिल की जंग में शहीद कर दिया गया था। इस शहादत दुनिया भर के साथ साथ बुरहानपुर जिले में भी रक्तदान शिविर लगाकर याद किया गया इस मौके पर बुरहानपुर नेहरू चिकित्सालय में असहाबे सुफ्फा एजुकेशन सोसाइटी द्वारा रक्तदान शिविर लगाकर करोना महामारी को देखते हुवे मास ओर सोशल डिस्टेंसिंग कभी पालन क्या गया ओर एक मिसाल कायम की गई पैगंबर हज़रत मुहम्मद साहब के नवासे हज़रत इमाम हुसैन की शहादत को याद करते हुए जवानों ने आपने लहू इमामे हुसैन अलैहिस्सलाम को नजराना पेश क्या और हज़रत हुसैन के रास्ते पर चलने की नसीहत दी। असहाबे सुफ्फा एजुकेशन सोसाइटी के अध्यक्ष हाजी अब्दुल बासित ने बताया है के अगर एक बूंद लहू का भी किसी जरूरत मंद व्यक्ति की जान को बचा सकता है तो यही हमारी टीम के लिए दुनिया ओर अखिरात संवारने का जरिया है इस मौके पर जिला अध्यक्ष अजय सिंह रघुवंशी जी पूर्व निगम अध्यक्ष गौरी दिनेश शर्मा जी असहाबे सुफ्फा एजुकेशन सोसाइटी अध्यक्ष हाजी अब्दुल बासित साहब सय्यद फारूक साहब आलम अंसारी साहब सय्यद तोसिफ साहब हाफ़िज़ अकिल साहब मोहम्मद फरहान साहब मौजूद थे


देवा शरीफ यूपी के भारत प्रसिद्ध आध्यात्मिक गुरु का आज शुक्रवार को बुरहानपुर आगमन*।

          बुरहानपुर(मेहलका इकबाल अंसारी) भारतीय खानकाही व्यवस्था की अति विश्वसनीय रूहानी शख्सियत, देवा शरीफ यूपी, मुंबई महाराष्ट्र और बुरहान...