सोमवार, 14 सितंबर 2020

नाबालिग के साथ बलात्‍कार करने वाले आरोपी की जमानत हुई खारिज


जिला अभियोजन अधिकारी मो. अकरम शेख द्वारा बताया गया कि, न्‍यायालय श्रीमती नीलम शुक्‍ला विशेष न्‍यायाधीश (पाक्‍सो एक्‍ट) इंदौर के समक्ष थाना कनाडिया के अप.क्र.378/2020 धारा 376(2)(i) भादवि व धारा 3/4 पाक्‍सो एक्‍ट में गिरफ्तारशुदा आरोपी लेखराज पिता वीरसिंह राजपूत उम्र 35 साल निवासी शिवशक्ति फार्म हाउस बिचौली मर्दाना इंदौर द्वारा जमानत आवेदन प्रस्‍तुत किया गया एवं जमानत पर छोडे जाने का निवेदन किया गया। अभियोजन की ओर से विशेष लोक अभियोजक श्रीमती सुशीला राठौर द्वारा जमानत आवेदन का विरोध करते हुए कहां गया कि अपराध गंभीरतम प्रकृति का है यदि आरोपी को जमानत का लाभ दिया गया तो वह फरियादी एवं साक्षियों को डराएगा, धमकाएगा तथा आरोपी के फरार होने की संभावना है। अत: आरोपी का जमानत आवेदन निरस्‍त किया जाएं। अभियोजन के तर्को से सहमत होते हुए न्‍यायालय द्वारा आरोपी का जमानत आवेदन निरस्‍त किया गया। अभियोजन की कहानी इस प्रकार है कि फरियादीया ने अपने माता पिता के साथ थाना उपस्थित होकर जुबानी रिपोर्ट की कि मैं कक्षा 5वीं मे पढती हूं। लेखराज राजपूत जो फार्म हाउस की देखभाल करता है तथा वहीं रहता है। दिनांक 29.08.2020 को दोपहर 03:30 बजे मैं शौचालय गई थी तभी वहां पर लेखराज राजपूत आया और मुझसे बोला कि मैं तुझसे बहुत प्‍यार करता हूं तू मुझे पसंद है मैं जैसा बोलू वैसा करना, नही तो मैं तुम्‍हारी मम्‍मी पापा की पगार नही दूंगा और मेरे साथ जबरदस्‍ती करने लगा और मेरी लेगी उतार दी और मेरा मुंह दबा दिया और लेखराज ने मेरी साथ जबरदस्‍ती बलात्‍कार किया। लेखराज मुझसे बोला कि यदि तूने चिल्‍लाया या किसी को यह बात बताई तो मैं तुझे व तेरे मम्‍मी पापा को जान से खत्‍म कर दूंगा। मैं जोर से चिल्‍लाई तो आवाज सुनकर मेरी मम्‍मी आई तो मम्‍मी को आता देखकर लेखराज वहां से भाग गया। फिर मेरी मम्‍मी मुझे घर लेकर गई और मैने पूरी बात मम्‍मी पापा को बताई। फिर मम्‍मी पापा के साथ थाने रिपोर्ट करने आई हूं कार्यवाही की जावें। उक्‍त सूचना पर से अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। 14/09/2020 अभियोजन मीडिया सेल जिला इंदौर


कुल्हाडी मार कर अस्थिभंग करने के मामले में आरोपी को दो वर्ष की सजा और अर्थदण्ड

 छतरपुर- कुल्हाडी मार कर अस्थिभंग करने के मामले में कोर्ट ने फैसला दिया। बिजावर अपर सत्र न्यायाधीश की अदालत ने आरोपी को दो साल की कठोर कैद क...