सोमवार, 7 सितंबर 2020

नाबालिग लडकी से छेडछाड करने वाले आरोपी की जमानत हुई खारिज

आज दिनांक को जिला अभियोजन अधिकारी मो. अकरम शेख द्वारा बताया गया कि, न्‍यायालय श्रीमती नीलम शुक्‍ला विशेष न्‍यायाधीश (पॉक्‍सो) इंदौर के समक्ष थाना कनाडिया के अप.क्र.337/2020 धारा 354, 354घ, 323, 294, 506 भादवि व धारा 5/6 पॉक्‍सो एक्‍ट में गिरफ्तारशुदा आरोपी प्रदीप पिता मोहन चौहान उम्र 20 साल निवासी 80 पहाडी टेकरी बिचौली मर्दाना इंदौर के द्वारा जमानत आवेदन प्रस्‍तुत किया गया और जमानत पर छोडे जाने का निवेदन किया गया। अभियोजन की ओर से विशेष लोक अभियोजक श्रीमती सुशीला राठौर द्वारा जमानत आवेदन का विरोध करते हुए तर्क रखे गए कि यदि आरोपी को छोडा गया तो वह फरियादी एवं साक्षियों को डरायेगा, धमकायेगा तथा राजीनामे के लिए दबाव बनायेगा। आरोपी के फरार होने की संभावना है। अत: आरोपी का जमानत आवेदन निरस्‍त किया जाना चाहिए। न्‍यायालय द्वारा तर्को से सहमत होते हुए आरोपी का जमानत आवेदन निरस्‍त किया गया। अभियोजन की कहानी संक्षेप में इस प्रकार है फरियादीया ने अपने भाई व सहेली के साथ हाजिर थाना आकर जुबानी रिपोर्ट की कि मैं कक्षा 10वी में पढती हूं । मेरे पडोस मे रहने वाले प्रेमसिंह सितोरिया के भांजा प्रदीप चौहान पिछले 5 माह से मेरा पीछा कर रहा है और मुझसे जबरन बात करने के लिये बोलता है मैं उससे बात करने का मना करती हूँ तो मेरे पीछा करके मुझे परेशान करता है। 6 माह पूर्व मेरी स्‍कूल की परीक्षाएं चल रही थी मैं परीक्षा देने गई तो वहा भी प्रदीप मेरा पीछा करते हुए आ गया था और स्कूल के बाहर बुरी नियत से मेरा हाथ पकड लिया था और बोला कि मुझसे बात क्यो नही कर रही है। अगर मुझसे बात नहीं की तो अच्छा नहीं होगा। ऐसा बोलकर वहां से चला गया। तब मैं काफी डर गई थी। जिस कारण-मैने यह बात अपने घर वालो को नही बताई थी। दिनांक 31.07.20 के शाम 05.00 बजे के लगभग मैं अपने घर के पडोस में रहने वाली मेरी सहेली के घर पर थी तब मैने मेरी सहेली को बताया की प्रदीप चौहान मुझे परेशान कर रहा है और मेरा पीछा करता रहता है और मुझ पर बुरी नियत रखता है। तब मेरी सहेली ने अपने भाई के मोबाईल से प्रदीप चौहान को फोन लगाया और उसको समझाया की परेशान मत किया कर। तभी कुछ देर के बाद प्रदीप चौहान मेरी सहेली के घर पर आ गया और मुझे तथा मेरी सहेली को अश्‍लील गालिया देने लगा मैने गालिया देने से मना किया तो प्रदीप ने बुरी नियत से मेरा हाथ पकडकर खिचने लगा तथा मुझे हाथ थप्पडो से मारपीट करने लगा। मेरी सहेली बीच बचाव करने आयी तो प्रदीप ने उसके साथ भी हाथ थप्पडो से मारपीट की तभी उसके मामा प्रेमसिंह व आसपास के लोग़ आ गये, तो प्रदीप अपनी मोटर साईकल लेकर भाग गया वह जाते जाते वोला की आज तो तू बच गई है आईदा मेरे सामने आयी तो तुझे जान से खत्म कर दूंगा। रिपोर्ट करती हूँ कार्यवाही की जावे। उक्‍त सूचना पर से अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। 07/09/2020 अभियोजन मीडिया सेल प्रभारी जिला इंदौर


कुल्हाडी मार कर अस्थिभंग करने के मामले में आरोपी को दो वर्ष की सजा और अर्थदण्ड

 छतरपुर- कुल्हाडी मार कर अस्थिभंग करने के मामले में कोर्ट ने फैसला दिया। बिजावर अपर सत्र न्यायाधीश की अदालत ने आरोपी को दो साल की कठोर कैद क...