शुक्रवार, 5 फ़रवरी 2021

साधु-संत धर्म के रक्षक, सम्मान के योग्य- चापोरकर*


बुरहानपुर। अखिल भारतीय संत पुजारी समिति द्वारा कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान भारतीय स्त्री शक्ति संगठन की प्रगति ताई चापोरकर ने अतिथि के बतौर कार्यक्रम को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि पृथ्वी पर तीन प्रकार के देव तुल्य लोग होते हैं।


इसमें देव के बाद देव तुल्य मनुष्य उनका आचरण, व्यवहार अपने आप तक सीमित रहता है, लेकिन तीसरे होते हैं साधु, संत जो मानव जाति के लिए सतत प्रयत्न करते हैं। धर्म की रक्षा करते हैं। इसलिए हमारे वह सम्मान के योग्य होते हैं।

चापोरकर ने कहा कि समाज को साधु, संत एक तरह की नई दिशा प्रदान करते हैं। समय समय पर वह समाज को मार्गदर्शन देते हैं। कार्यक्रम में काफी संख्या में संतजन मौजूद थे।

जबरदस्ती ले जाकर खोटा काम करने वाले आरोपी को 10 वर्ष का सश्रम कारावास व 10 हजार रू. का अर्थदण्ड

माननीय विशेष न्यायालय (पॉक्सो  एक्ट) मण्डलेश्वर द्वारा नाबालिग को जबरदस्ती ले जाकर खोटा काम करने वाले आरोपी को 10 वर्ष का सश्रम कारावास एवं ...