बुधवार, 29 जनवरी 2020

सीएए एवं एनआरसी के विरोध मे बुरहानपुर में बंद का शांतिपूर्वक  मिला जुला रहा असर, प्रशासन ने मुस्तैदी से सम्भाला मोर्चा 


बुरहानपुर- सोशल मीडिया पर फैले मैसेज भारत बंद का असर बुरहानपुर में भी देखने को मिला इकबाल चौक, गांधी चौक,कमल तिराहा आदि जगहों पर सुबह से ही सभी प्रतिष्ठान पूर्णतया  बन्द रहे। वहीं पुष्पक बस स्टैंड के तरफ और अन्य क्षेत्रों में कुछ दुकानदारों ने एनआरसी के समर्थन में अपने प्रतिष्ठान चालू रखें। बंद की जानकारी मिलते ही प्रशासन अलर्ट हो गया तथा सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था की गई। शहर में विभिन्न दलों के समर्थकों ने अपने अपने तरीके से शांतिपूर्ण तरीके से अपना प्रकटीकरण किया। उल्लेखनीय है कि बुरहानपुर में बंद के लिए किसी को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता क्योंकि किसी ने भी प्रत्यक्ष रूप से बंद का आह्वान नहीं किया था फिर भी लोगों ने अपने अपने प्रतिष्ठानों पर ताले जडे।  प्रशासन ने भी प्रमुखता से किसी भी प्रकार की अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयारी कर रखी थी। बंद के दौरान पुष्पक बस स्टैंड पर भी ग्रामीण क्षेत्र के लोगों का आना जाना कम ही रहा क्योंकि बंद की सूचना पूरे जिले में मिल गई थी। प्रतिदिन बुरहानपुर शहर में खरीददारी करने वाले ग्रामीण जन भी आज बंद की वजह से बुरहानपुर नहीं आ सके।


नकली दस्तावेजों के आधार पर जमीन बेचने वाले को न्यायालय ने दिया पाक 5 वर्ष का सश्रम कारावास

 अतिरिक्त‍ लोक अभियोजक श्री सुनील कुरील अभियोजित एक महत्वपूर्ण प्रकरण में मा. अपर सत्र न्यायाधीश श्री आर.के.पाटीदार बुरहानपुर द्वारा आरोपीगण...