बुधवार, 25 मार्च 2020

आंखो को यह बेबसी नम कर गई  मरने से पहले घर आया.... , बच्चो को गेट से ही बाहर से देखा और चला गया और फिर उसने दुनिया को अलविदा कह दिया....


कितना दुखदाई यह लम्हा रहा होगा कि अपने बच्चो को अपने सीने से भी न लगा सका.... 
न ही प्यार कर सका और न ही चूम सका
इंसानियत आपकी क़र्ज़दार रहेगी डॉ #हैदियो #अली !!
 यह #इंडोनेशिया के डा. हैदियो अली की आख़री तस्वीर है जो  कोरोना वॉयरस के मरीज़ों का इलाज करते हुए खुद कोरोना से संक्रमित हो गये थे.


जब उनको लगा के अब वह नहीं बचेंगे तो घर गए और गेट के बाहर खड़े होकर अपने बच्चों और प्रैग्नेंट बीवी को आख़री बार निहारा और फिर चले गए, यह तस्वीर उनकी पत्नी ने ली थी 
जब वह अपने बच्चों को जी भरकर देखने और उनसे विदा लेने आये थे, 
वह दूर ही खड़े रहे, वह नहीं चाहते थे कि उनके बीबी बच्चों तक वायरस पँहुचे


डॉ. हैदियो अली इंसान के रूप में एक फ़रिश्ता साबित हुये, ऐसे डॉक्टर को सलाम
इस तस्वीर को हमेशा याद रखिये, यह मार्मिक तस्वीर त्याग की एक मिसाल है.... जागरूक रहिये.... सतर्क रहिये.... कोशिश किजिये आप घर पर ही रहिये...... एक जिम्मेदार नागरिक का फर्ज अदा करते हुए प्रशासन का सहयोग करें....
हरदा से मुईन अख्तर खान


आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था रम्भापुर में संचालकों के चुनाव के बाद निविरोध चुने गए अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं अन्य संस्था के प्रतिनिधि* *रम्भापुर सोसाइटी के अध्यक्ष बने कमलसिंह हाडा (भुंडीया )*

*ब्युरो दशरथ सिंह कट्ठा झाबुआ...9685952025* झाबुआ - जिलें के मेघनगर के ग्राम रम्भापुर में आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था के संचालको के चुनाव 2...