शनिवार, 11 अप्रैल 2020

लॉकडाऊन बढ़ाने से पथ विक्रेता भूखमरी की कगार पर...... एक लाख अठ्ठाइस हज़ार हुए बेरोजगार....


मुम्बई ।महाराष्ट्र सरकार व्दारा देश में जारी लॉकडाऊन की समयावधि 30 अप्रैल तक बढ़ाये जाने से पथ विक्रेताओं की चिंता बढ़ती जा रहा है । इससे सभी भूखमरी की कगार पर है । इस संबंध में  महाराष्ट्र एकता हॉकर यूनियन चैयरमैन नवाज़ हफ़ीज खान मुम्बई ने महाराष्ट्र सरकार से मांग की है कि मध्यप्रदेश सरकार की तर्ज पर महाराष्ट्र सरकार भी सभी को निशुल्क अनाज वितरण करें । दों  करोड़ की आबादी वाला शहर मुम्बई शहर में एक लाख अठ्ठाईस हज़ार पथ विक्रेता है जो फुथपात पर धंधा लगाकर बारिश धूप ठंड मे अपने परिवार का जीवन यापन करते हैं । के पश्चिमी विभाग में आठ लाख लोग रहते हैं जिनका लॉकडाऊन बढ़ जाने से आर्थिक स्थिति बिगड़ जायेगी ।  लेकिन अभी इस कठिनाई के दौर में कोरोना महामारी के चलते उनकी रोजीरोटी पर विराम लग गया है  इस संबंध में महाराष्ट्र एकता हॉकर यूनियन चैयरमैन नवाज़ हफ़ीज खान मुम्बई ने प्रदेश के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर पथ विक्रेताओं की पीड़ा से अवगत कराते हुए बताया कि
मुम्बई शहर के मात्र दस हज़ार वैजीटेबल विक्रेताओं को सिर्फ चार घंटे व्यापार का मौका मिल रहा है । बाकी लोगों को इसका रोजीरोटी कमाने का मौका नहीं मिल रहा है भुखमरी की कगार पर है । इसलिए माननीय गवर्नमेंट ऑफ महाराष्ट्र और मुम्बई मुसींपल कमिश्नर एवं मुम्बई मेयर रजिस्ट्रेशन पथ विक्रेताओं के लिए आर्थिक सहायता के लिए प्रयास करें. ज्ञात हो कि स्ट्रीट वेन्डर एक्ट 214 में माननीय सुप्रीम कोर्ट के दिये गए आदेश के अनुसार शहर पथ विक्रेता कमेटी गठन की गई । जिसके तहत् 2014 मे डोर टू डोर रजिस्ट्रेशन फार्म जगह पर आकर बीएमसी ने वितरण किया और उसी फार्म को बीएमसी के कार्यालय में बायोमेट्रिक सर्वे के आधार पर प्रुफ के साथ जमा करके इसी जमा किए फार्म को पात्र करने का कार्य जिम्मेदार अधिकारियों व्दारा जारी है ।जगह जगह से आये परप्रांतियों व्दारा मुम्बई मे फुटपाथ पर धंधा करके रोजीरोटी कमाने का कार्य पिछले तीस चालीस साल से किया जा रहा है जिसमें रजिस्टर एक लाख पथ विक्रेता को जनहित में इस संकट की घड़ी में मदद की गुहार है।
मुईन अख्तर खान



कुल्हाडी मार कर अस्थिभंग करने के मामले में आरोपी को दो वर्ष की सजा और अर्थदण्ड

 छतरपुर- कुल्हाडी मार कर अस्थिभंग करने के मामले में कोर्ट ने फैसला दिया। बिजावर अपर सत्र न्यायाधीश की अदालत ने आरोपी को दो साल की कठोर कैद क...