रविवार, 26 अप्रैल 2020

सेनेटाईजेशन डोम और टनल के उपयोग पर रोक लगे


 हरदा-   समाजवादी जन परिषद की ओर से जारी एक विज्ञप्ती में पार्टी के अनुराग मोदी ने यह मांग की है की सरकारी कर्मचारीयों को डिसइन्फेक्ट करने के नाम पर सरकारी दफ्तरों और पुलिस स्टेशन में सेनेटाईजेशन डोम और टनल के जरिए सरकारी कर्मचारीयों पर जो डिसइन्फेक्टेंट रसायन का छिडकाव किया जा रहा है उसके उपयोग पर तुरंत रोक लगे. डिसइन्फेक्टेंट के शरीर पर छिडकाव से फायदे की जगह उल्टा नुकसान होगा. इसमें जो रसायन (ब्लीचिंग पाउडर) होता है, वो मानव शरीर के लिए ठीक नहीं होता है. छिडकाव के दौरान यह आँख आदि में भी जा सकता है जिसके गंभीर परिणाम हो सकते है.
अनुराग मोदी ने सुझाव दिया कि इनका उपयोग कार्यालय की सामग्री आदि को डिसइन्फेक्ट करने के लिए जरुर किया जा सकता है. या अगर कर्मचारी पी पी इ पहना है, तो वो इसके अंदर जाकर कुछ हद तक पी पी ई को डिसइन्फेक्ट कर सकता है.
मोदी ने बताया कि महाराष्ट्र सरकार की ओर से आरोग्य सेवा संचनालय ने ने 19 अप्रेल को ही एक आदेश जारी कर सेनेटाईजेशन डोम और टनल के उपयोग पर रोक लगा दी है. इस तरह के आदेश मध्य प्रदेश सरकार भी तुरंत जारी करे और जिला कलेक्टर भी दंड प्रक्रिया सहिंता की धारा 144 के तहत इस तरह के आदेश जारी करे.


आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था रम्भापुर में संचालकों के चुनाव के बाद निविरोध चुने गए अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं अन्य संस्था के प्रतिनिधि* *रम्भापुर सोसाइटी के अध्यक्ष बने कमलसिंह हाडा (भुंडीया )*

*ब्युरो दशरथ सिंह कट्ठा झाबुआ...9685952025* झाबुआ - जिलें के मेघनगर के ग्राम रम्भापुर में आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था के संचालको के चुनाव 2...