रविवार, 31 मई 2020

बुरहानपुर जिले की प्रायवेट स्कूल एशोसिएशन ने शाला फीस मुद्दे पर शासन ने पुनर्विचार करने का किया आग्रह टीचिंग औऱ नॉन टीचिंग स्टॉप ,बस के साथ अन्य खर्चों का कैसे करेंगे भुगतान

बुरहानपुर- विगत कई दिनों से स्कूल फीस माफी को लेकर सोशल मीडिया पर पोस्ट आ रही हैं । जिले की अधिकांश प्रायवेट स्कूल तो 10 माह शैक्षणिक दिवस के अनुसार फीस लेती है। और लॉक डाउन गर्मियों की छुट्टियों में हुआ है।जिसकी फीस अधिकांश स्कूल नही लेती है। कई स्कूलो की परीक्षा मार्च में ही समाप्त हो गई है और वहा तक ही फीस भी लेते हैं। कई स्कूलों ने विद्यार्थियों को अपनी सेवा तो दे दी है लेकिन अभी भी फीस बकाया है। ऐसी स्थिति में स्कूल अपने टीचिंग औऱ नॉन टीचिंग स्टॉप ,बस के साथ अन्य खर्चों का कैसे भुगतान करेगे।थोड़ा इसपर भी विचार करे। कई स्कूल तो कम फीस में शैक्षणिक सेवा का ही कार्य कर रहे है।ऐसी स्कूलों के बारे में भी विचार आवश्यक है।


आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था रम्भापुर में संचालकों के चुनाव के बाद निविरोध चुने गए अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं अन्य संस्था के प्रतिनिधि* *रम्भापुर सोसाइटी के अध्यक्ष बने कमलसिंह हाडा (भुंडीया )*

*ब्युरो दशरथ सिंह कट्ठा झाबुआ...9685952025* झाबुआ - जिलें के मेघनगर के ग्राम रम्भापुर में आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था के संचालको के चुनाव 2...