रविवार, 3 मई 2020

पूर्व सीएम कमलनाथ की मांग- लोगों को सैलरी दे सरकार, तीन महीने का बिल माफ करें


भोपाल । पूर्व सीएम कमलनाथ ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कहा कि हमें काम करने के लिए साढ़े 12 महीने मिले। इसके पहले जो सरकार 15 साल तक रही वो हमसे कैसे हिसाब मांग रही है। किसानों का ऋण माफ हवा में नहीं किया गया, इसके पूरे दस्तावेज हैं जिसमें किसानों के नाम से लेकर मोबाइल नंबर तक हैं। उन्होंने कहा कि मुझे इस बात का दुख नहीं है कि हमारी सरकार चली गई, दुख इस बात का है कि कांग्रेस की सरकार में किसानों के लिए चलाई गई योजनाओं को बंद किया जा रहा है। हमने ज्यादातर किसानों का कर्जा माफ कर दिया था, जो बचे थे उनका कर्जा नई सरकार को माफ करना चाहिए। भाजपा पहले कोरोना का मजाक उड़ा रही थी, खुश शिवराज सिंह चौहान इसे बहुत ही सामान्य बता रहे थे। कमलनाथ ने कहा कि हमने पहले ही इसको लेकर चेताया था, लेकिन भाजपा के लोग इसका मजाक बनाते रहे। इससे आज आर्थिक गतिविधी ठप पड़ गई है। मैं रोजगार की बात करता था लेकिन आज प्रदेश में युवाओं का हाल खराब है। जो कर्मचारी निजी कंपनियों में और अलग-अलग स्थानों पर काम करते हैं, उन्हें सरकार को सैलरी देना चाहिए। तीन महीने का बिजली बिल माफ करना चाहिए। जो छोटे व्यापारी है उनका एक करोड़ रुपए तक का कर्जा माफ करना चाहिए। राशन दुकान में राशन नहीं है लेकिन प्रदेश में शराब की दुकानें खुलने जा रही हैं। 


कुपोषित बच्चों को खिलाया पोष्टिक आहार, बताया महत्व

बुरहानपुर। शहर के आलमगंज सेक्टर के अंतर्गत सिंधीपुरा आंगनवाड़ी केंद्र 4 पर बाल भोज कराया गया। कार्यकर्ता मंजू सिंह ठाकुर ने बताया गुरुवार को...