सोमवार, 1 जून 2020

प्रधानमंत्री फसल बीमा की राशि किसान की सहमति के बिना वसूली न करें - श्रीमती अर्चना चिटनिस , प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की राशि के संबंध में भी आवश्यक दिशा-निर्देश हो जारी


बुरहानपुर-  (मेहलका अंसारी)श्रीमती चिटनिस ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा की राशि किसान की सहमति के बिना ही वसूली कर उसके ऋण खाते में जमा की जा रही है, जो कि सैद्धांतिक रूप से सरासर गलत है। कोई भी किसान अपनी फसल का बीमा मुसीबत का सामना करने के लिए कराता है ना कि ऋण खाते में जमा करने के लिए। श्रीमती चिटनिस ने कहा कि देशभर में लॉकडाउन और अपने जिले में कर्फ्यू होने के कारण गत वर्ष इसी समयावधि में इसी गुणवत्ता के केले का औसत भाव लगभग 1500 रुपए प्रति क्विंटल था जो आज लगभग औसत 300 रूपए प्रति क्विंटल है। किसान अपनी रबी की फसल जैसे गेहूं, चना और मक्का अभी तक भी नही बेच पाया है। आगामी खरीफ की फसल लगाने की व्यवस्था करना एक अतिआवश्यक कार्य है। कोविड-19 के कारण बैंकों में आर्थिक लेनदेन प्रभावित हुआ है। इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की राशि किसान की सहमति के बिना ऋण खातों में जमा ना करते हुए उनके बचत खाते में जमा करने हेतु बैंको को आदेशित करें।


कुपोषित बच्चों को खिलाया पोष्टिक आहार, बताया महत्व

बुरहानपुर। शहर के आलमगंज सेक्टर के अंतर्गत सिंधीपुरा आंगनवाड़ी केंद्र 4 पर बाल भोज कराया गया। कार्यकर्ता मंजू सिंह ठाकुर ने बताया गुरुवार को...