शुक्रवार, 28 अगस्त 2020

दारू- मुर्गा खाने के लिए पैसा मांगने वाले आरोपी की जमानत निरस्त--

दारू- मुर्गा खाने के लिए रास्‍ते में फरियादी को रोककर पैसे मागने और पैसे न देने पर उसके साथ मारपीट करने वाले आरोपियों का जमानत आवेदन मुख्‍य न्यायिक मजिस्ट्रेट, छतरपुर की न्‍यायालय ने निरस्त कर  दिया है।   एडीपीओ/ जिला अभियोजन मीडिया सेल प्रभारी ने बताया कि फरियादी महेन्‍द्र पटेल ने थाना सिविल लाईन में रिपोर्ट लेख कराई कि घटना दिनांक 06 अगस्‍त 2020 को वह और उसका दोस्‍त अपनी मोटर साईकिल से अपने घर आ रहा था तो करीब 06 बजे वह दोनो जैसे ही महर्षि स्‍कूल के पास पहुचें तो पंचवटी कॉलोनी में रहने वाले आरोपीगण संतोष रजक, राजू रजक एवं महल रोड छतरपुर निवासी युवराज सिंह ठाकुर और एक अन्‍य व्‍यक्ति सभी हाथों में लोहे के पाईप लिए थे । संतोष रजक ने लोहे का पाइप अडाकर फरियादी को रोक लिए और चारों गाली देकर बोले हमे दारू मुर्गा के लिए पॉच हजार रूपये दो तो फरियादी ने कहा कि उसके पास पैसे नही है , गाली क्‍यों दे रहे हो तो चारो लोग उसे पाइपो से मारपीट करने लगे आरोपी राजू रजक ने उसका मोबाईल तोड दिया रास्‍ते में लागो के आता देख चारो आरोपी बोले हमको रूपये देने से मना किया तो जान से खत्‍म कर देगें और वहॉ से भाग गये। फरियादी की उक्‍त्‍ रिपोर्ट पर थाना सिविल लाईन में अपराध पंजीबद्ध किया गया। दौरान विवेचना सभी आरोपियों संतोष रजक, राजू रजक, युवराज सिंह ठाकुर एवं सतीश सोनी ने न्यायालय में जमानत आवेदन दिया। सुनवाई के दौरान  अभियोजन की ओर से शिवाकांत त्रिपाठी, सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी ने जमानत आवेदन का विरोध करते हुये तर्क प्रस्तुत किये तथा मुख्‍य न्यायिक मजिस्ट्रेट श्री विपीन सिंह भदौरिया ने तर्क से सहमत होते हुए आरोपियों के जमानत आवेदन को निरस्त कर दिया।  


ज्यादती के आरोपी को दस वर्ष का सश्रम कारावास

 राजगढ जिले में पदस्थ माननीय विशेष न्यायाधीश पॉक्सो एक्ट डॉ. अंजली पारे राजगढ ने विशेष सत्र प्रकरण क्रमांक 85/19 धारा 363,366,376(1)(2) एवं ...