शनिवार, 12 सितंबर 2020

अर्वाचीन इंडिया स्कूल में "करे योग, रहे निरोग" कार्यशाला का हुआ समापन


बुरहानपुर। अर्वाचीन इंडिया स्कूल द्वारा शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य की उचित देखभाल के लिए योग, ध्यान, प्राणायाम एवं तनाव प्रबंधन की "करे योग, रहे निरोग" ऑनलाइन कार्यशाला का सफलतापूर्वक आयोजन हुआ। कार्यशाला में विद्यार्थियों एवं शिक्षकों ने भाग लिया। संस्था के जनसम्पर्क अधिकारी मिर्ज़ा राहत बेग ने बताया कि आज संपूर्ण विश्व को इस बात का एहसास हो गया है कि मानव का मानसिक एवं शारीरिक स्वास्थ्य सबसे महत्वपूर्ण है। आज की जीवन शैली ने मानव प्रजाति को पूरे समय इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के सानिध्य में रहने का यह परिणाम दिया है कि वह शारीरिक दृष्टि से कार्य करता जा रहा है जिससे उसकी प्रति-रक्षात्मक प्रणाली एवं स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां बढ़ती जा रही है। शहर के अर्वाचीन इंडिया स्कूल में विगत 4 दिनों से "करे योग, रहे निरोग" कार्यशाला का आयोजन हुआ। तीन दिन विद्यालय के विद्यार्थियों के लिए एवं एक दिन विद्यालय परिवार के सदस्यों के लिए इस कार्यशाला का आयोजन हुआ। योग शिक्षक भास्कर डोंगरे ने स्वेच्छा से समाज के एवं विद्यालय के हितार्थ अपनी सेवाएं दी। उन्होंने योग प्राणायाम कब करें? कैसे करें? कौन से नियमों का पालन करें? इत्यादि जानकारियां विस्तृत रूप से दी। निर्देशिका श्रीमती राखी मिश्रा ने कहा कि यह सच है कि स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मस्तिष्क का निवास होता है, अतः हमें अपनी दिनचर्या का कहीं और व्यवस्थित पालन करना चाहिए। प्रशासनिक अधिकारी विशाल गोजरे, अभिरुचि केंद्र श्रीमती अंजली पिम्पलीकर, सीनियर कोऑर्डिनेटर दीप्ति पोडियम एवं सचिन जैन आदि ने कार्यशाला के सफलतापूर्वक संपन्न होने पर आभार व्यक्त किया।


 


कुल्हाडी मार कर अस्थिभंग करने के मामले में आरोपी को दो वर्ष की सजा और अर्थदण्ड

 छतरपुर- कुल्हाडी मार कर अस्थिभंग करने के मामले में कोर्ट ने फैसला दिया। बिजावर अपर सत्र न्यायाधीश की अदालत ने आरोपी को दो साल की कठोर कैद क...