गुरुवार, 3 सितंबर 2020

धर्मावलंबियों ने सनातन धर्म के अपमान व हिन्दू समाज की भावनाओं को चोट पहुंचाने पर दिया ज्ञापन।


 बुरहानपुर (मेहलका अंसारी) अखिल भारतीय संत पुजारी समिति जिला बुरहानपुर इकाई के नेतृत्व में जिले के समस्त सनातन धर्मावलंबियों ने सामाजिक, राजनैतिक दल/ संगठनों ने स्थानीय प्रशासन को चेताया था कि भगवान श्री गणेश की मंगल मूर्ति का विसर्जन श्रद्धालुओं को स्वयं करने दिया जावे, परंतु शासन-प्रशासन की हठधर्मिता पूर्ण नीति के कारण निगम द्वारा निर्मित जल कुंड में जबरन हिन्दू धर्मावलंबियों से मूर्तियां लेकर विसर्जित की गई। जिसका दुष्परिणाम स्पष्ट दिखाई दे रहा है की भगवान की मूर्तियां विखंडित होकर एक मलबे के रूप में, आस्था को आघात पहुंचाते हुए हिंदू धर्म को अपमानित कर रही है। जिसके वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद आनन-फानन में कुंड में विसर्जित मूर्तियां प्रशासन ने अपना अमला लगवा कर निकलवाई और मां ताप्ती नदी में विसर्जित की व शेष मूर्तियों को छुपाने की दृष्टि से कुंड में पुनः पानी भरवा दिया गया। प्राप्त जानकारी अनुसार कुंड क्षतिग्रस्त है, उसमें से पानी रिसता रहता है, और मूर्तियां अंग भंग स्थिति में दिखाई दे रही हैं। जिसका अपमान अधर्मी विधर्मी अराजक तत्वों द्वारा किया जा रहा है। यह देखते हुए हिंदू समाज में गहरा आक्रोश है। अतः प्रशासन स्पष्ट करें की कुंड में विसर्जित प्रतिमाओं के अवशेष का ससम्मान किस प्रकार निर्वाण करेगा। जिला प्रशासन तीन दिन में अपना पक्ष स्पष्ट करें की भगवान गणेश की मंगल मूर्तियों का ससम्मान विसर्जन कैसे करेगा अन्यथा धर्म रक्षक सनातनी कुंड से मूर्तियां निकाल कर समय विसर्जन करेंगे।


कुल्हाडी मार कर अस्थिभंग करने के मामले में आरोपी को दो वर्ष की सजा और अर्थदण्ड

 छतरपुर- कुल्हाडी मार कर अस्थिभंग करने के मामले में कोर्ट ने फैसला दिया। बिजावर अपर सत्र न्यायाधीश की अदालत ने आरोपी को दो साल की कठोर कैद क...