गुरुवार, 15 अक्तूबर 2020

नगर निगम बुरहानपुर में सफाई कार्य ठेका पद्धति बंद कर कलेक्टर दर पर सफाई श्रमिकों को रखे कार्य पर-पूर्व मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस


बुरहानपुर। मध्यप्रदेश की पूर्व कैबिनेट मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस (दीदी) ने कलेक्टर एवं निगमायुक्त से चर्चा एवं पत्र प्रेषित कर नगर निगम बुरहानपुर में सफाइ कार्य ठेका पद्धति बंद कर कलेक्टर दर पर सफाई श्रमिकों को कार्य पर रखने की बात कही।


श्रीमती चिटनिस ने बताया कि वर्तमान में नगर पालिक निगम बुरहानपुर द्वारा लगभग 650 से अधिक सफाई श्रमिकों को ठेका पद्धति से कार्य पर रखा गया है, नियमानुसार इन ठेका सफाई श्रमिकों को उनके मानदेय की राशि स्वयं के बैंक खातें में मिलना चाहिए। किन्तु ऐसा नहीं हो रहा है एवं ठेकेदार द्वारा काटी गई ईपीएफ की राशि भी समय पर जमा नहीं करने की शिकायतें भी प्राप्त हो रही है।

श्रीमती अर्चना चिटनिस ने कहा कि प्रदेश में खंडवा, भोपाल नगर निगम द्वारा आऊटसोर्स एजेंसी के स्थान पर निकाय द्वारा सफाई श्रमिकों को अस्थायी रूप से कलेक्टर दर पर कार्य पर रखा गया है, निगम उनके मानदेय का भुगतान करता है व ईपीएफ का कटौ़त्रा कर जमा करवाता है। इस संबंध में नगर निगम बुरहानपुर के उपायुक्त वित्त सचिन सिटोले एवं नगर निगम बुरहानपुर सहायक आयुक्त सलीम खान ने उपरोक्त दोनों नगरीय निकाय खंडवा, भोपाल में प्रचलित व्यवस्था का अवलोकन स्वयं कर अपना प्रतिवेदन नगर निगम आयुक्त, बुरहानपुर के माध्यम से कलेक्टर बुरहानपुर को प्रेषित किया है। श्रीमती चिटनिस ने कहा प्रेषित प्रतिवेदन का संज्ञान लेकर एवं सफाई श्रमिकों के हित में नगर निगम बुरहानपुर में ठेका पद्धति बंद कर उन्हें निकाय द्वारा ही कार्य पर रखा जाकर उनका ईपीएफ भुगतान का कटौत्रा किया जाए।

श्रीमती अर्चना चिटनिस ने कहा कि वर्तमान समय कोरोना संक्रमण एवं त्यौहारों का है। आगामी समय में नवरात्रि, दशहरा, दीपावली के त्यौहार आने वाले है, जिसमें साफ-सफाई व्यवस्था हेतु सफाई श्रमिकों की अत्यंत्र आवश्यकता होगी। श्रीमती चिटनिस ने कहा कि तत्संबंध में अतिशीघ्र व्यवहारिक एवं समकक्ष नगर निकायों के अनुरूप निर्णय लिया जाए।



कुपोषित बच्चों को खिलाया पोष्टिक आहार, बताया महत्व

बुरहानपुर। शहर के आलमगंज सेक्टर के अंतर्गत सिंधीपुरा आंगनवाड़ी केंद्र 4 पर बाल भोज कराया गया। कार्यकर्ता मंजू सिंह ठाकुर ने बताया गुरुवार को...