बुधवार, 28 अक्तूबर 2020

नहीं मिलेगी मिलाद उल नबी के जुलूस की इजाजत



बुरहानपुर(मेहलक़ा अंसारी) 30 अक्टूबर 2020 को मिलादुन्नबी के प्रस्तावित जुलूस को लेकर कार्यालय कलेक्टर बुरहानपुर में कलेक्टर बुरहानपुर श्री प्रवीण सिंह की अध्यक्षता में और पुलिस अधीक्षक राहुल कुमार लोढ़ा की उपस्थिति में एक मीटिंग का आयोजन किया गया, जिसमें बुरहानपुर के निर्दलीय विधायक ठाकुर सुरेंद्र सिंह शेरा भैया, मोमिन जमात बुरहानपुर के अध्यक्ष शाह परवेज़ सलामत, वरिष्ठ अधिवक्ता खलील अहमद अंसारी अशरफी, कारी शकील आलम, मास्टर मोहम्मद अमीन अंसारी चिश्ती, सैयद मुस्तफा अली सागर, महमूद रजा सैयद सज्जाद अली आदि ने शिरकत की। जिला प्रशासन की ओर से आहूत की गई इस मीटिंग में उपस्थित मुस्लिम समाज के प्रतिनिधियों को   गृह मंत्रालय के वर्तमान आदेश एवं कोविड-19 की मार्गदर्शिका के परिप्रेक्ष्य में अवगत कराया गया कि सामाजिक धार्मिक आयोजन एवं चल समारोह/जुलूस आदि स्थगित रखे जाएंगे। परिस्थितियां सामान्य होने तक सादगी के साथ समस्त त्योहार मनाए जाएंगे। जिला प्रशासन एवं गृह मंत्रालय की गाइड लाइन के आदेश यह स्पष्ट होता है कि मिलादुन्नबी का जुलूस अनुमति के अभाव में नहीं निकल सकेगा। कलेक्टर एवं एसपी के साथ संपन्न हुई मीटिंग के परिप्रेक्ष्य में उलमा ए अहले सुन्नत का स्पष्ट कहना यह है कि जिला प्रशासन से विधिवत अनुमति मिलने पर ही मिलादुन्नबी का जुलूस निकाला जाएगा। क्योंकि जिला प्रशासन की ओर से अनुमति देने में एवं अनुमति मिलने में वैधानिक परेशानी आ रही है, इसके परिपेक्ष में उलमा ए अहले सुन्नत की ओर से सभी मुस्लिम जनों से यह अपील की गई है कि परंपरा अनुसार एवं अपनी अपनी श्रद्धा एवं विश्वास के साथ अपने घरों में मिलादुन्नबी के त्यौहार को शांतिपूर्वक  संपन्न करें। इस वर्ष 30 अक्टूबर 2020 को मिलाद उन नबी का जुलूस नहीं निकलेगा।

कुपोषित बच्चों को खिलाया पोष्टिक आहार, बताया महत्व

बुरहानपुर। शहर के आलमगंज सेक्टर के अंतर्गत सिंधीपुरा आंगनवाड़ी केंद्र 4 पर बाल भोज कराया गया। कार्यकर्ता मंजू सिंह ठाकुर ने बताया गुरुवार को...