शनिवार, 26 दिसंबर 2020

मामा जी ऐसेआदर्श राजनेता थे जिन्होंने आदिवासियों को अपने हक के लिए लड़ना सिखाया, मृत्यु के बाईस वर्ष बाद भी हजारों लोग उनकी समाधि स्थल पर पहुंच कर देते हैं श्रद्धांजलि



मामा जी की पुण्यतिथि पर इंदौर में हुई संगोष्ठी


 इंदौर। मध्य प्रदेश के संत तपस्वी  समाजवादी नेता  मामा बालेश्वर दयाल की पुण्यतिथि पर लोहिया विचार मंच के अध्यक्ष रामबाबू अग्रवाल की अध्यक्षता में संगोष्ठी का आयोजन किया गया । संगोष्ठी में बोलते हुए विभिन्न वक्ताओं ने कहा कि मध्य प्रदेश के मामा बालेश्वर दयाल ऐसे नेता थे जिन्होंने न केवल आदिवासियों को उनका हक और अधिकार दिलाया बल्कि अन्याय और जुल्म के खिलाफ संघर्ष करना भी सिखाया ।


उनके द्वारा आदिवासियों को शिक्षित कर राजनीतिक रूप से प्रशिक्षित करने का काम भी मामा जी ने किया । उनके द्वारा किए गए आदिवासियों के उत्थान और अंतिम व्यक्ति की तरक्की के लिए किए गए कामों के चलते ही आज भी उनके समाधि स्थल पर हजारों की तादाद में लोग जुटते हैं । आदिवासियों में मान्यता है कि मामा जी की समाधि पर नमन करने और मानता करने से उनकी हर मुराद पूरी होती है । इसी के चलते आदिवासी अपनी पहली फसल का अनाज मामा जी की समाधि पर समर्पित करते हैं । वही घर में कहीं भी कोई भी शुभमंगल कार्य में भी मानता करते हैं । संगोष्ठी को सर्वश्री रामस्वरूप मंत्री, एसके दुबे, प्रमोद नामदेव, दिनेश कुशवाह, जीवन मंडलेचा आदि ने संबोधित किया । संगोष्ठी में राजेश यादव, छेदी लाल यादव, रजनीश जैन, भरत सिंह यादव ,सहित बड़ी संख्या में समाजवादी कार्यकर्ता उपस्थित थे ।



आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था रम्भापुर में संचालकों के चुनाव के बाद निविरोध चुने गए अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं अन्य संस्था के प्रतिनिधि* *रम्भापुर सोसाइटी के अध्यक्ष बने कमलसिंह हाडा (भुंडीया )*

*ब्युरो दशरथ सिंह कट्ठा झाबुआ...9685952025* झाबुआ - जिलें के मेघनगर के ग्राम रम्भापुर में आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था के संचालको के चुनाव 2...