शुक्रवार, 12 फ़रवरी 2021

आयशा फिल्म पर मुस्लिम समुदाय ने जताया रोष .... राष्ट्रपति के नाम सौंपा ज्ञापन

हरदा । हजरत ए आयशा पर बन रही फिल्म का मुस्लिम समाज हरदा ने विरोध करते हुए फिल्म पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है .इस संबंध में खेडीपुरा मस्जिद इमाम सैय्यद नजाकत अली बाबा के नेतृत्व में विश्व मुस्लिम बोर्ड मध्यप्रदेश व्दारा ज्ञापन सौंपा है जिसमें फिल्म के ट्रेलर को हजरते आएशा सिद्दीका की शान में गुस्ताखी बताते हुए फिल्म पर रोक लगाने की मांग की गई है।


ज्ञापन में कहा गया है कि लखनऊ में वसीम रिजवी नामक व्यक्ति ने हजरत मोहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बीबी हजरत आयशा सिद्दका जिन्हें हम अपनी मां मानते हैं, उनके संबंध में वसीम रिजवी द्वारा फिल्म आयशा मदर्स आॅफ बिलिवर्स बनाई जा रही है। इस फिल्म का एक ट्रेलर इंटरनेट पर डाला गया है, जो कि अत्यंत ही अशोभनीय है। इस कारण करोड़ों मुस्लिमों की धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं। अपर कलेक्टर श्यामेन्द जायसवाल को ज्ञापन मौके पर खेडीपुरा मस्जिद कमेटी अध्यक्ष जब्बार खान , इशाक खलीफा , टी.ए.मलिक , इखलाक खान , अधिवक्ता शेख अशफाक खान , नादिर पठान, गुलाम मुस्तुफा रिज़वी , सैय्यद अख्तर अली , मुईन अख्तर खान ,  आबिद खान , हाजी सुब्बु भाई ,जफर अंसारी ने  इस फिल्म पर तत्काल पाबंदी लगाने के साथ ही रिजवी पर कानूनी कार्रवाई की मांग की। 

ज्ञापन में कहा गया कि रिजवी मुस्लिमों की धार्मिक भावनाओं को भड़का कर देश में  नफरत फैलाना चाहता है।  उन्होंने कहा कि यदि रिजवी के खिलाफ तत्काल कार्रवाई नहीं की गई तो समाज में आक्रोश उत्पन्न होगा।

जबरदस्ती ले जाकर खोटा काम करने वाले आरोपी को 10 वर्ष का सश्रम कारावास व 10 हजार रू. का अर्थदण्ड

माननीय विशेष न्यायालय (पॉक्सो  एक्ट) मण्डलेश्वर द्वारा नाबालिग को जबरदस्ती ले जाकर खोटा काम करने वाले आरोपी को 10 वर्ष का सश्रम कारावास एवं ...