गुरुवार, 4 फ़रवरी 2021

इटालियन कंपनी के नेता क्या जाने राम भक्त की शक्ति:-भानु भूरिया* *बाबर के पदचिन्ह पर चलने लगी कांग्रेस और कांतिलाल-जीतु सेन*



*राम मंदिर निर्माण की राह में बाधा डालने के विरोध में रही हमेशा कांग्रेस...?*


*ब्युरो दशरथ सिंह कट्ठा झाबुआ...9685952025*




झाबुआ-लगभग 500वर्ष बाद भारत मे नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत के हिन्दू समाज के लिए एक स्वर्णिम पल राम मंदिर निर्माण के लिए सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया था,और राम मंदिर पूजन के दिन सम्पूर्ण भारत मे दिवाली मनाई थी,भारत के इतिहास में ये मंदिर बनना हर भारत वासी के लिए बड़े गर्व की बात थी,परंतु राम मंदिर के निर्माण को लेकर कांग्रेस नेता शुरू से आज तक विरोध ही कर रहै है?कांग्रेस नेताओं की राम मंदिर को लेकर असहमति जताने का यह खेल वास्तव में जनता को गुमराह करने जैसा ही दिखाई देता है,वही कांग्रेस की मानसकिता से बार बार हिंदू की भावना को ठेस पहुँचाती रही है,उक्त विरोध भारतीय जनता युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष भानु भूरिया ने कांतिलाल भूरिया के बयान को लेकर कहा है,पूर्व में भी झाबुआ में हुए 2002 में हिंदू संगम में भी भगवान को लेकर लोगो के बीच गलत बयान देते हुए हिंदू समाज को भड़काया था और हिंदू संगम कार्यक्रम में आने का ना भी बोला था पंरतु लोगो ने कांग्रेस और कांतिलाल की घटिया हिंदू विरोधी मानसिकता को नकारते हुए कार्यक्रम में भाग लेते हुए 2003में झाबुआ में हिन्दुत्व का डंका बजते हुए भाजपा को विजय होते हुए कांतिलाल को मुंह की खानी पड़ी थी,वही भाजयूमो अध्यक्ष भूरिया ने कहा कि इटालियन कंपनी कांग्रेस राम और राम की शक्ति को नही जानती है इसलिए इटालियन कांग्रेस नेता ऐसे हिंदू विरोधी बयान देते हुए अपने हिंदू नही होने का परिचय दे रहे है,वही भाजयूमो के जिला मीडिया प्रभारी जीतु सेन ने कहा कि कांग्रेस में राष्ट्रीय स्तर का नेता हो या प्रादेशिक स्तर का नेता हो वो अपनी घटिया मानसिकता को लेकर जरूर भारत और हिंदू समाज की संस्कृति का मखोल सार्वजनिक रूप से उड़ाता है,कांग्रेस का इतिहास शुरू से देखा जाए तो हिंदू विरोधी ही रहा है,भाजयूमो के जिला मीडिया प्रभारी जीतू सेन ने झाबुआ विधायक कांतिलाल भूरिया के पेटलावद में किसान आंदोलन के दौरान दिए हिंदू विरोधी घटिया बयान को लेकर कहा है कि हमेशा विवादित बयान बाजी और आधारहीन बयान को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहने वाले विधायक कांतिलाल भूरिया जिसको न अपनी वरिष्ठता की चिंता है और न ही अपनी पार्टी की नैतिकता की?वैसे कांग्रेस नेता विधायक भूरिया की राजनीति में ऐसे कई बार अवसर आए हैं जिनसे उनके शिक्षा और वरिष्ठता पर सवालिया निशान खड़ा हुआ है?राम मंदिर को लेकर कांतिलाल भूरिया पहले ऐसे विरोधी नही बल्कि उनके वरिष्ठ नेतृत्व भी राम मंदिर और भगवान को लेकर गलत बयान देता आया है,कांग्रेस की ऐसी राजनीति जिसने राम मंदिर मुद्दे को उलझाने का काम किया है ये पूरा देश जानता है,इस देश में सभी की भावनाएं राम मंदिर को लेकर जुड़ी हुई है लेकिन कांग्रेस ने हमेशा वोट बैंक की राजनीति करते हुए केवल तुष्टिकरण का ही सहारा लिया और उसी तुष्टिकरण के कारण ही आज कांग्रेस वर्तमान हालत में पहुंची है,कांग्रेस ने अपने घटिये स्तर पर पूर्व में भी शपथ पत्र के आधार पर भगवान श्रीराम के अस्तित्व पर ही प्रश्नचिह्न खड़ा कर दिया था,जिसका परिणाम लोकसभा चुनाव में देखने को मिल गया था वही भाजयूमो जिला मीडिया प्रभारी जीतु सेन ने भाजपा के सभी मोर्चो के माध्यम से चेतावनी देते हुए कांतिलाल भूरिया को आगाज किया है कि आने वाले चुनाव में झाबुआ जिले

की तीनों विधानसभा क्षेत्र सहित लोकसभा में भाजपा का डंका बजेगा,कांतिलाल भूरिया द्वारा दीए गए हिंदू विरोधी बयान को खारिज करते हुए जीतु सेन ने कहा है कि कांग्रेस और बाबर की सोच में समानता दिखती है क्योंकि वर्तमान में यह पूरा देश जानता है कि बाबर एक विदेशी आक्रमणकारी था,जिसने पूर्व में अयोध्या में राम मंदिर को तोड़ा था और कांग्रेस और कांतिलाल भूरिया भी बाबर के पदचिह्न पर चलते हुए हिन्दू की आस्था को तोड़ने का काम कर रहा है,राम मंदिर के लिए उस समय भी हिन्दू समाज ने संघर्ष किया था और आज भी कांतिलाल जैसे बाबर से लड़ने के लिए संघर्ष कर रहा है और करेगा,भाजपा और भाजयूमो सहित सभी मोर्चो द्वारा कांतिलाल भूरिया द्वारा दिये गए बयान को लेकर सार्वजनिक रूप से माफी मांगे या उन्होंने जो बयान दिया है उसका सबूत दे नही तो पूरा हिन्दू समाज लामबंद होगा।

कुल्हाडी मार कर अस्थिभंग करने के मामले में आरोपी को दो वर्ष की सजा और अर्थदण्ड

 छतरपुर- कुल्हाडी मार कर अस्थिभंग करने के मामले में कोर्ट ने फैसला दिया। बिजावर अपर सत्र न्यायाधीश की अदालत ने आरोपी को दो साल की कठोर कैद क...