मंगलवार, 25 फ़रवरी 2020

दिल्ली में बाहर से आकर लोग हिंसा फैला रहे - मनीष सिसोदिया


नई दिल्ली । देश की राजधानी दिल्ली के नॉर्थ-ईस्ट हिस्से में जारी हिंसा और तनाव के बीच राजनीति शुरू हो चुकी है। बीजेपी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा है कि विपक्षी नेता उपद्रवियों को भड़काने के बजाय उन्हें समझाने का काम करें। वहीं दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आरोप लगाया है कि दिल्ली में बाहर से आकर लोग हिंसा फैला रहे हैं।
मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा है, 'लगता है शहर में दरिंदे घुस आए हैं। ये हमारी दिल्ली की आम जनता नहीं है। ये लोग जिस भी धर्म जाति क्षेत्र से हैं इन्हें तुरंत पकड़कर अंदर डालना चाहिए। कड़ी सजा मिलनी चाहिए। जो भी हो।'
इससे पहले केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मंगलवार को दिल्ली में भड़की हिंसा की समीक्षा को लेकर उपराज्यपाल अनिल बैजल, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के प्रतिनिधि, दिल्ली पुलिस आयुक्त और मंत्रालय के अधिकारियों के साथ उच्चस्तरीय बैठक की।
बैठक के बाद, केजरीवाल ने मीडिया को हिंसा को रोकने के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदम के बारे में बताया। उन्होंने कहा, ‘शाह के साथ बैठक सकारात्मक रही और हिंसा को रोकने के लिए सभी जरूरी उपायों को उठाने के बारे में चर्चा हुई। दिल्ली पुलिस को शांति स्थापित करने और कानून व व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने के लिए पर्याप्त संख्या में सुरक्षाबलों को तैनात करने के लिए कहा गया है।’
शाह ने अपने मंत्रालय की ओर से सभी जरूरी कदम उठाने और शांति स्थापित करने के लिए आवश्यक सुरक्षाबलों को तैनात करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने यह भी कहा कि सभी पार्टियों को दिल्ली में शांति स्थापित करने में सहयोग करने के लिए कहा गया है। उल्लेखनीय है कि दिल्ली के उत्तरपूर्वी क्षेत्र में सीएए के समर्थन और विरोध में कई झड़पें हुई हैं, जिसमें एक पुलिसकर्मी समेत सात लोगों की जान चली गई और दर्जनों लोग घायल हैं।
बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने भी मीडिया को बताया कि गृहमंत्री ने दिल्ली में शांति व सद्भाव बनाए रखने के लिए सभी राजनीतिक पार्टियों से सहयोग करने की अपील की है।


कुल्हाडी मार कर अस्थिभंग करने के मामले में आरोपी को दो वर्ष की सजा और अर्थदण्ड

 छतरपुर- कुल्हाडी मार कर अस्थिभंग करने के मामले में कोर्ट ने फैसला दिया। बिजावर अपर सत्र न्यायाधीश की अदालत ने आरोपी को दो साल की कठोर कैद क...