सोमवार, 11 मई 2020

शाही जामा मस्जिद, बुरहानपुर के पेश इमाम को अपशब्द कहने वाली महिलाओं ने माफी मांगी*

 


बुरहानपुर(मेहलका अंसारी) हिंदुस्तानी मस्जिद के इमाम क़ारी अब्दुल रशीद ने बताया कि सोशल मीडिया पर यह खबर वायरल हुई थी यह कुछ मुस्लिम महिलाओं ने लाक डाउन का उल्लंघन करके आंदोलन करते हुए शाही जामा मस्जिद बुरहानपुर के पेश इमाम हजरत सय्यद इकरामुल्लाह बुखारी को भी वे महिलाएं अपशब्द कह रही थी। साथ ही वे महिलाएं अपने आप को एक विशेष बिरादरी के नाम से बताकर भ्रमित करने का प्रयास भी कर रही थी। उक्त महिलाओं की इस हरकत पर हिंदुस्तानी मस्जिद बुरहानपुर के इमाम क़ारी अब्दुल रशीद और बुरहानपुर मोमिन कॉन्फ्रेंस सोशल मीडिया ग्रुप सहित अनेक धार्मिक विद्वानों ने सशक्त रूप से उक्त महिलाओं के द्वारा शाही जामा मस्जिद बुरहानपुर के इमाम हजरत सय्यद इकराम उल्लाह बुखारी के प्रति अभिव्यक्त किए गए अपशब्द अथवा चरित्र हनन की निंदा एवं भर्त्सना करते हुए निंदा प्रस्ताव स्वीकृत की है। कारी अब्दुल रशीद ने स्पष्ट किया कि हम गौरांवित हैं कि अल्लाह ने हमें हजरत सैयद इकरामुल्लाह बुखारी जैसा जागरूक धार्मिक विद्वान दिया है, जो हर समय शहर एवं समाज की अनेक अनेक सामाजिक एवं धार्मिक समस्याओं के समाधान करने में अग्रिणी रहने के साथ साथ हमें सदैव मार्गदर्शन के लिए जागरूक एवं तत्पर रहते हैं। महिला का वीडियो वायरल होने पर उक्त महिला ने शाही जामा मस्जिद बुरहानपुर के पेश इमाम हजरत सय्यद इकरामुल्लाह बुखारी से मोबाइल पर माफी मांग ली है और शाही जामा मस्जिद बुरहानपुर के पेश इमाम  हजरत सय्यद इकरामुल्लाह बुखारी ने उन्हें माफ कर दिया है। उक्त माफी मांगने का प्रमाणीकरण शाही जामा मस्जिद बुरहानपुर के पेश इमाम के चिरंजीव हजरत सय्यद अनवार उल्ला बुखारी ने इस प्रतिनिधि से मोबाइल पर किया है। माफी मांगने से संपूर्ण मामले का पटाक्षेप हो गया है।


नकली दस्तावेजों के आधार पर जमीन बेचने वाले को न्यायालय ने दिया पाक 5 वर्ष का सश्रम कारावास

 अतिरिक्त‍ लोक अभियोजक श्री सुनील कुरील अभियोजित एक महत्वपूर्ण प्रकरण में मा. अपर सत्र न्यायाधीश श्री आर.के.पाटीदार बुरहानपुर द्वारा आरोपीगण...