शनिवार, 12 सितंबर 2020

बुरहानपुर जिले में जिला अभियोजन अधिकारी की आपत्ति पर नाबालिक बालिका से छेडछाड करने वाले आरोपीगण का जमानत आवेदन मा. न्यायालय ने किया निरस्त

अति. जिला अभियोजन अधिकारी श्री रामलाल रन्धावे द्वारा आपत्ति करने पर मा. अति. सत्र न्यायाधीश श्री के.एस. बारिया ने नाबालिक बालिका से छेडछाड करने वाले आरोपीगण संतोष पिता सुखदेव उम्र लगभग 22 वर्ष निवासी ग्राम हतनुर, आकाश पिता दिलीप उम्र लगभग 21 वर्ष निवासी बहादरपुर का जमानत आवेदन निरस्त किया। अति. जिला अभियोजन अधिकारी श्री रामलाल रन्धावे ने बताया कि, पिडिता एक महिने पहले अपनी माँ के साथ भाई के घर पर आयी थी तब से वह यही पर रह रही थी दिनांक 01.08. 2020 को पिडिता ने बताया कि मेरी माँ की तबियत खराब होने से वह इलाज के लिये हतनुर गयी थी, मेरा भाई मजदुरी करने गया था। शाम 5.30 बजे में मेरे भाई के घर के पास स्थित शासकीय नल पर पानी भरने गयी थी, तो वहा पर आरोपीगण संतोष और आकाश दोनो आये और संतोष मुझे बुरी नियत से रूपये दिखाकर बोला कि मेरे साथ चल रही है, हमारे साथ चल नही तो तुझे उठाकर ले जायेगे। मै दोनो की बात सुनकर डर गयी एवं वहा से भागने लगी तो संतोष ने मेरा दाहिना हाथ पकड लिया मैने झटके से मेरा हाथ छुडाया और घर भागकर गयी एवं घटना के बारे में मेरी भाभी व पडोस में रहने वाली बहन को घटना के बारे में बताया मेरे भाई और बहन के साथ थाने आयी। थाना लालबाग अपराध में धारा 354, 354क(1)(ii) 34 भा.द.वि. 7/8, 11)(vi)/12 पॉक्सो एक्ट के अन्तर्गत प्रकरण दर्ज कर अभियोग पत्र न्यायालय में प्रस्तुत किया। आजद दि‍नांक को आरोपीगण के अधिवक्ता द्वारा मा. न्यायालय के समक्ष जमानत हेतु आवेदन प्रस्तुत किया गया, जिस पर अति. जिला अभियोजन अधिकारी/विशेष लोक अभियोजक श्री रामलाल रन्धावे द्वारा इस आधार पर आपत्ति ली कि आरोपीगण के द्वारा नाबालिक बालिका से छेडछाड से सबंधित होकर गंभीर स्वरूप का है । यदि जमानत का लाभ दिया जाता है तो इस प्रकार के अपराधो में वृद्धि होने की संभावना है तथा आरोपी के फरार होने की संभावना है । आरोपीगण के जमानत आवेदन पर अति. जिला अभियोजन अधिकारी श्री रामलाल रन्धावे द्वारा वैधानिक आपत्ती ली गयी, आपत्ती को ध्यान में रखते हुए मा. न्यायालय ने आरोपीगण का तर्क विश्वास योग्य नहीं माना और संतोष पिता सुखदेव निवासी ग्राम हतनुर, आकाश पिता दिलीप उम्र 21 वर्ष निवासी बहादरपुर जमानत आवेदन निरस्त किया। सहा.मिडिया सेल प्रभारी जिला अभियोजन कार्यालय जिला बुरहानपुर म.प्र.


कुल्हाडी मार कर अस्थिभंग करने के मामले में आरोपी को दो वर्ष की सजा और अर्थदण्ड

 छतरपुर- कुल्हाडी मार कर अस्थिभंग करने के मामले में कोर्ट ने फैसला दिया। बिजावर अपर सत्र न्यायाधीश की अदालत ने आरोपी को दो साल की कठोर कैद क...